coronavirus से लड़ने के लिए सामने आये डॉक्टर कफील, मोदी से की जेल से बहार निकलने की अपील, दिया इस बीमारी से बचने का सुझाव

पीएम मोदी दवारा लागु किये गए नागरिकता कानून का विरोध करने के मामले में जेल में बंद, डॉक्टर कफील खान कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सामने आए हैं। डॉक्टर कफील खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपील की है कि, संकट के समय में उन्हें लोगों की मदद करने की अनुमति दी जाए।

उन्होंने लिखा, सरकार द्वारा कोरोना से निपटने के लिए संतोषजनक कदम उठाए गए हैं। लेकिन इसके बावजूद इस बीमारी के तेजी से फैलने की आशंका है। जिससे 30-40 लाख लोग प्रभावित हो सकते हैं। इसलिए हमें इससे निपटने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारी करनी होगी। चिकित्सा क्षेत्र में 20 साल के अनुभव से मुझे लगता है कि मैं इस समय इस बीमारी को रोकने में कुछ मदद कर सकता हूं।

PM मोदी से अपील करते हुए उन्होंने लिखा, उत्तर प्रदेश सरकार ने बिना किसी सबूत के जबरन रसुका लगाकर मुझे जेल में डाला है। मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि मुझे जेल से बाहर निकाला जाए। ताकि मैं इस संकट के समय में देश और देश के लोगों की मदद कर सकूं। मैं आपका आभारी रहूंगा।

आपको बता दें कि, डॉक्टर कफील खान को उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने अलीगढ़ में दिए गए भड़काऊ भाषण के आरोप में 29 जनवरी को मुंबई से गिरफ्तार किया था। जिसके बाद उन्हें मथुरा की जेल में बंद कर दिया गया था। अपने पत्र में डॉक्टर कफील ने उन उपायों का भी सुझाव दिया, जिससे इस बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है। डॉक्टर कफील ने पत्र में लिखा, हमें प्रत्येक जिला स्तर पर कैंपों की संख्या को बढ़ाना चाहिये। प्रत्येक जिलें में 100 नए आईसीयू बनाये जाए। प्रत्येक जिले में ज्यादा से ज्यादा आइसोलेशन वार्ड बनाये जाए। ट्रेनिंग दी जाए और अफवाहों पर अंकुश लगाया जाये।

Check Also

मौलाना अरशद मदनी ने कहा, देशभर में फैले कोरोना वायरस के लिए, तब्लीगी जमात के मरकज को बदनाम करना दुखद

एशिया के सबसे बड़े इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम के मौलाना और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के …