लॉकडाउन की वजह से खेतों में सड़ रहे हैं हजारों क्विंटल प्याज, खेतो में फेंकने को मजबूर है किसान

लॉकडाउन किसानो पर मुसीबत बनता जा रहा है जिसका उदाहरण मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में देखने को मिला है लॉकडाउन की वजह से हालत यह है कि किसानों को खेतों में प्याज सड़ने के लिए फेंकने की नौबत आ गई है। लॉकडाउन की वजह से किसानों को फसल बर्बाद होने की चिंता सता रही है क्योंकि फसल पर लिए ब्याज तय समय से चुकाने में असमर्थ रहेंगे। तस्वीर में आप देख सकते हैं कि प्याज खेत और खलिहान में पड़े नजर आ रहे हैं।

कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति में किसान अपने खेत से प्याज को बाजार तक नहीं निकाल पा रहे हैं। जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर बेड़िया और अगल-बगल के इलाकों में बड़ी संख्या में खेतों में प्याज बर्बाद हो रही है। कई जगहों पर खेतों में हजारों कुंटल प्याज वैसे ही सड़ रही है।

लॉक डाउन की वजह से मंडी ना खुलने तथा मजदूर ना मिलने की वजह से किसानों की हजारों क्विंटल प्याज खेतों में बर्बाद हो रही है। वही लोन पर खेती करने वाले किसानों को भी चिंता सता रही है। की आखिर वह समय पर लोन कहा से दे पाएंगे। आर्थिक स्थिति नाजुक होने की वजह से किसान अब सरकार से उम्मीद लगाए बैठे हैं।

किसानों का कहना है अगर सरकार इस दिक्कत का 10 से 12 में कोई हल नहीं निकालती है तो वह बर्बाद हो जाएंगे। बेड़िया के अलावा डूडगांव, बागदा, बाल्या, कातोरा, जिरभार समेत लगभग 10 गांवों के 70 से ज्यादा किसान प्याज की खेती करते हैं अब नौबत यह है की यहाँ प्याज सड़ रहा है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …