(PC_ANI)

दारुल उलूम से जारी हुआ फतवा, कोरोना वायरस को छिपाना जायज नहीं

लखनऊ: निजामुद्दीन मरकज में बड़ी संख्या में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दारुल उलूम ने फतवा जारी किया है। जारी फतवे में कहा गया है की कोरोना वायरस संक्रमण को छिपाना जायज नहीं, क्यूंकि यह दूसरे लोगों के ज़िन्दगी को खतरे में डालता है।

मौलाना खालिद रशीद फरंगी माली ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को छुपाना सही नहीं है क्योंकि यह संक्रमित व्यक्ति और अन्य लोगों के जिंदगी को खतरे में डालता है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, “दारुल उलूम फिरंगी महल लखनऊ ने आज एक ‘फतवा’ जारी किया है जिसमें कोरोनोवायरस का टेस्ट और इलाज सभी के लिए जरुरी है और इस बीमारी को छिपाना एक जुर्म है। खुद की जान और दूसरों की जान खतरे में डालना इस्लाम में मना है।”

प्रेस वार्ता में गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि 9000 तबलीगी जमात कार्यकर्ता और उनके संपर्क की पहचान कर ली गई है। और सभी को क्वारंटाइन में रखा गया है इन 9000 लोगों में से 1306 विदेशी हैं और अन्य भारतीय हैं।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …