कोरोना वायरस का डर, 10 रु. किलों में भी नहीं बिक प् रहा चिकन, जंगल में छोड़ गई 500 मुर्गियां

कोरोना वायरस के डर का प्रतिकूल असर पोल्ट्री व्यवसाय पर भी दिखाई दिया है। देश में मौजूद एक जगह का आलम ये कि अब चिकन 10 रुपए किलों में भी नहीं बिक पा रहाहै। जिसके चलते एक पोल्ट्री व्यवसायी ने पाली जा रही 500 मुर्गियों को जंगल में छोड़ दिया है। यह मामला महाराष्ट्र के वाशिम का है। लोगों ने यहां कोरोना के डर से ब्रायलर चिकन खाना बंद कर दिया है। जिससे पाल्ट्री व्यवसायियों व मुर्गी पालने वाले किसानों को खास नुकसान हुआ है। वाशिम जिले की मालेगांव तहसील की राजुरा के तेजस सानप का पिछले 10 वर्षों से पोल्ट्री का व्यवसाय है। आज उनके पास करीब 3 हजार 500 मुर्गियां हैं।

कोरोना वायरस को लेकर फैली अफवाह की वजह से उन्हें अपना 3 लाख का माल कुल 90 हजार रुपए में बेचने की नौबत आ गई है। लेकिन इतनी काम कीमत में भी ग्राहक नहीं मिल पा रहे हैं। 70-80 रुपए किलो बिकने वाला चिकन अब 10 रुपए प्रति किलो बेचने की नौबत आ गई है।

ऐसे में वाशिम जिले सानप को मुर्गियों का दाना उपलब्ध कराना भी मुुश्किल पड़ रहा है। जिसके चलते उन्होंने 500 मुर्गियां जंगलों में छोड़ दी। सानप ने यह भी बताया कि वे बाकी की मुर्गियां भी जंगल में छोडऩे के लिए जा रहे थे, लेकिन उन्होंने इन मुर्गियों के दाने की खातिर अपनी पत्नी का मंगलसूत्र गिरवी रख दिया।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …