मौत के डर से 5 दिनों में 55 से घटकर 25 किलो रह गया वज़न, निर्भया का दोषी जेल में कहता है ये बात

राजधानी दिल्ली में चलती बस में निर्भया के साथ गैंगरेप हुआ था और फिर उसका मौके पर ही आरोपियों दवारा मर्डर कर दिया गया था। घटना के कुछ दिन बाद ही 6 आरोपी पकड़े गए थे। और सात साल केस चलने के बाद दिल्ली की पटियाला कोर्ट ने चार आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई है। इन चार आरोपियों को 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी। निर्भया गैंगरेप के इन आरोपियों की मौत अब नजदीक है। डेथ वारंट इन चार आरोपियों का जारी हो चूका है।

दिल्ली तिहाड़ जेल में अपनी फांसी की तैयारी देख अपराधी अक्षय कुमार सिंह, पवन, विनय और मुकेश के चेहरे पर अब वही खौफ दिखाई दे रहा है जो उस रात निर्भया के चेहरे पर होगा। खबर है की इन आरोपियों की दिन में दो बार जांच की जाती है, और जांच में सभी का वजन घटता दिखाई दे रहा है। आरोपी अक्षय का वजन 55 से घटकर 25 किलो रह गया है, पवन का 82 से 81 किलो, मुकेश का वजन 67 किलो है। सभी के ब्लड प्रेशर सामान्य है। दोषियों ने मौत के खौफ से खाना-पीना बंद कर दिया है।

पवन गुप्ता के पिता हीरालाल गुप्ता ने बातचीत में बताया था की, “पवन से उसकी मां लगातार मिलती रहती है। हर बार पवन यही कहता है कि उसे फंसाया जा रहा है। जुर्म किया ही नहीं है, झूठा केस है लेकिन कोर्ट पर भरोसा अभी है। दुखद घटना हुई है,

यह मानता हूं लेकिन मेरे बेटे ने नहीं किया है। बार-बार वो यही कहता है कि पापा मैं इसमें नहीं हूं, बनिया दुकानदारी करते हैं हमारे खानदान में किसी पर कोई केस नहीं है। वह दुकान पर बैठता था, दुकानदारी करता था, उसे दुकान से उठाकर ले गए। हीरालाल ने पटियाला हाउस कोर्ट की चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत में निर्भया के दोस्त के खिलाफ भी शिकायत दर्ज करवाई है।

Check Also

CM योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को दिए निर्देश

उत्तर प्रदेश: सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की बैठक में अफसरों को स्वास्थ्य विभाग …