दोषी मुकेश फांसी टालने के लिए फिर पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, इस बार पुराने वकील को बनाया चारा

पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा निर्भया के दोषियों की फांसी के लिए नया डेथ वारंट जारी होने के बाद तिहाड़ में बंद दोषी मुकेश ने अपने पुराने वकील पर गंभीर आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट पहुँच गया है। दोषी मुकेश कुमार सिंह अपने नए वकील एम एल शर्मा के माध्यम से फिर से क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करने की अनुमति मांगी है।

यह क्यूरेटिव पिटीशन दोषी मुकेश के भाई सुरेश ने वकील एम एल शर्मा के माध्यम से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनवाई कर सकता है गौरतलब है कि मुकेश की पहले ही सुप्रीम कोर्ट क्यूरेटिव पिटीशन खारिज कर चुका है।

वही दोषी मुकेश के नए वकील ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार और एमिक्स क्यूरी को मामले में प्रतिवादी बनाया है। याचिका में उल्लेख किया गया है कि मुकेश को साजिश का शिकार बनाया गया है।

याचिका में यह भी कहा गया है कि 6 दिसंबर 2019 से 3 मार्च 2020 तक के आदेश खारिज होने चाहिए। वह इस मामले में एमिकस क्यूरी ने सभी कानूनी उपाय को खत्म कर दिया जिससे कि मामला फांसी की सजा के करीब तक पहुंच गया।

मुकेश ने अपनी पूर्व वकील वृंदा ग्रोवर पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि उसे इस बात की जानकारी नहीं दी गई की क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करने के लिए 3 साल का समय होता है।

ऐसे में उसे दोबारा क्यूरेटिव पिटीशन और अन्य कानूनी विकल्पों के इस्तेमाल के लिए समय दिया जाना चाहिए। वहीं सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार द्वारा कथित आपराधिक साजिश धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए सीबीआई से जांच की मांग की गई है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …