कोरोना महामारी के बीच HDFC Bank को चौथी तिमाही में बड़ा मुनाफा, ग्राहकों को मिल सकता है फायदा

फरवरी के महीने में येस बैंक की माली हालत को लेकर आई खबर से ग्राहकों के मन में प्राइवेट बैंक को लेकर विश्वास काफी घट गया था। लेकिन अब जो खबर आई है, उससे ग्राहकों के साथ-साथ बैंकिंग सेक्टर के लिए राहत की बात है। कुछ दिन पहले खबर आई थी कि लोग प्राइवेट बैंकों के मुकाबले सरकारी बैंकों को डिपॉजिट के लिए चुन रहे हैं।

लेकिन अब देश के बड़े निजी बैंक ने लॉकडाउन और आर्थिक संकट के बीच अपनी चौथी तिमाही की रिपोर्ट से सबको चौंका दिया है। HDFC Bank को चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में मुनाफा सालाना आधार पर 17.72 फीसदी बढ़कर 6,927.69 करोड़ रुपये हुआ है। बैंक की ब्याज आय सालाना आधार पर चौथी तिमाही में 16.5 फीसदी बढ़कर 15204.06 करोड़ रुपये रही। मौजूदा समय में HDFC बैंक का मार्केट कैप (शुक्रवार के आंकड़ों के अनुसार) 4.98 खरब रुपये है।

दरअसल कोरोना संकट से चौथी तिमाही की रिपोर्ट पर असर का अनुमान लगाया गया था, लेकिन बैंक के कारोबार में शानदार बढ़त देखि गई। चौथी तिमाही में बैंक की डिपॉजिट सालाना आधार पर 24.2 फीसदी और तिमाही आधार पर 7.4 फीसदी की बढ़त के साथ 11,46,500 करोड़ रुपये हुई। HDFC बैंक ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि 31 मार्च को खत्म हुई तिमाही में उसकी कुल कंसोलिडेटेड आय 38,287.17 करोड़ रुपये रही। इससे पहले वित्त वर्ष 2018-19 की मार्च तिमाही में बैंक की आय 33,260.48 करोड़ रुपये रही थी।

बैंक ने कहा कि, वह भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के आदेश के अनुसार वित्त वर्ष 2019-20 में मुनाफे से संबंधित डिविडेंड का भुगतान नहीं करेगा। डिपॉजिट के नजरिए से देखें तो चौथी तिमाही पिछली 15 तिमाहियों में बैंक के लिए दूसरी सबसे बेहतर तिमाही रही।

इस बैंक की एसेट क्वालिटी में भी बीती तिमाही में सुधार देखने को मिला है। इस अवधि में ग्रॉस एनपीए 16 बेसिस प्वाइंट की गिरावट के साथ 1.26 फीसदी पर रहा. वहीं नेट एनपीए 12 बेसिस प्वाइंट की गिरावट के साथ 0.36 फीसद रहा. चौथी तिमाही में बैंक की प्रोविजनिंग तिमाही आधार पर 24.34 फीसदी से बढ़कर 3,784.49 करोड़ रुपये हुआ।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …