हिन्दू-मुस्लिम धर्म के त्योहार ब्रिटेन की संस्कृति के लिए बन रहे है खतरा- लंदन मेयर प्रत्याशी

0
229

लंदन: लंदन में सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के उम्मीदवार शॉन बेले के 13 साल पहले दिए हिंदू और मुस्लिम त्योहारों पर बयान की वजह से विवाद खड़ा हो गया है शॉन बेले की बयान की वजह से कड़ी आलोचना हो रही है। आपको बतादे की लंदन में 2 साल बाद महापौर के लिए चुनाव होने है।

दरअसल लंदन के महापौर सादिक खान के खिलाफ कंजर्वेटिव उम्मीदवार शॉन बेले ने 2005 में नीति अध्ययन केंद्र के लिए ‘No Mens Land’ नामक एक पैम्फ्लेट तैयार करवाया था। हिंदी सिआसत के अनुसार शॉन बेले ने ब्रिटेन के कल्चरल लैंडस्केप में हिंदू और मुस्लिम हस्तक्षेप को लेकर हमला बोला था।

शॉन बेले द्वारा छपवाये गए ‘No Mens Land’ नामक पैम्फ्लेट में लिखा था ‘आप अपने बच्चों को स्कूल लेकर आये और वह क्रिसमस के बजाय दीपावली के बारे में बहुत कुछ सीखेंगे। मैं देख रहा हूँ की अब स्कूलों में छुट्टिया हिंदू और मुस्लिम त्योहारों के बेस पर हो रही है। क्या यह ब्रिटिश समुदाय के जड़ों से काटने का
प्रयास नहीं है।’

शॉन बेले द्वारा छपवाये गए पैम्फ्लेट में ब्रिटेन में सभी धर्म और समुदाय के लोगों के रहने को लेकर भी निशाना साधा गया था। 2005 में छपे पैम्फ्लेट में यह भी लिखा था की एक जगह के तौर पर ब्रिटेन में बहुत सी अच्छाइया है और ब्रिटिश लोगों में भी बहुत कुछ काबिलेतारीफ है। उस पैम्फ्लेट आगे लिखा था की ब्रिटिश लोग जिस धर्म में भरोसा करते हैं उसे ही अगर खत्म किया जाने लगा और हमारे अधिकार को ही हमसे दूर किया जाने लगा तो क्या होगा। उन्होंने यहाँ तक कहा था की अगर हम दूसरे धर्म और संस्कृति के लोगों को ब्रिटेन में रहने और उनकी मान्यताओं को फ़ैलाने की परमिशन दे देंगे तो इसके कुछ आगे चलकर चिंताजनक रिजल्ट हो सकते हैं।
ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here