राजधानी दिल्ली में हिन्दू राव अस्पताल सील, कोरोना पॉजिटिव पाई गई नर्से, लॉकडाउन को मई मध्य तक बढ़ाने का सुझाव

लॉकडाउन के दौरान भी कोरोना संक्रमण के नए मामले देश के कई हिस्से से आ रहे हैं। सरकार दवारा कई जगहों को चिन्हित कर कोरोना के बढ़ते मामले को रोकने के लिए उसे हॉट स्पॉट करार दिया गया हैं। इस दौरान शनिवार को, राजधानी दिल्ली के हिन्दू राव अस्पताल में उस वक्त हड़कंप मच गया जब यहां पर एक नर्स कोरोना पॉजिटिव पाई गई। जिसके बाद अस्पताल को अस्थाई तौर पर सील कर दिया गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, अस्पताल तब तक सील रहेगा जब तक सेनिटाइजेशन और कंटैक्ट ट्रेसिंग का काम पूरा नहीं हो जाता है।

देश की राजधानी के एक सरकारी अस्पताल में 11 डॉक्टरों सहित 31 स्टाफ में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसकी जानकारी एक अधिकारी ने शुक्रवार को दी। अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कुछ डॉक्टरों और अन्य स्टाफ को एलएनजेपी अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल और कुछ निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है, जबकि शेष को क्वारंटाइन में भेजा गया है।

उन्होंने बताया, ”गुरुवार तक सात चिकित्सक और सात अन्य कर्मियों में कोविड-19 के संक्रमण की पुष्टि हुई थी और अब यह संख्या 31 हो गई है। चार और चिकित्सकों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।” उन्होंने कहा कि प्रतीत होता है कि उत्तर दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में बीमारी के ”सामुदायिक संचार की स्थिति है जिससे संक्रमण का उच्च दर संभव हुआ। जहांगीरपुरी इलाके में कई हॉट स्पॉट हैं।”

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों लगातार बढ़ते मामलो को देखते हुए दिल्ली सरकार की समिति के अध्यक्ष ने महामारी को काबू करने के लिए लॉकडाउन को मई मध्य तक बढ़ाने का सुझाव दिया है। मोदी सरकार ने 24 मार्च की मध्यरात्रि से 14 अप्रैल तक के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया था, जिसकी अवधि पूरी होने पर इसे तीन मई तक के लिए बढ़ाया गया।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …