हिंदुओं को प्रधानमंत्री इमरान का नए साल पर बड़ा तोहफा, पंज तीरथ को राष्ट्रीय विरासत किया घोषित

0
523
Loading...

पाकिस्तान: पश्चिमी पाकिस्तान में खैबर पख्तुनवा प्रांत की सरकार ने पेशावर में मौजूद प्राचीन हिन्दू धार्मिक स्थल पंज तीरथ को राष्ट्रीय विरासत घोषित कर दिया है। गौरतलब है की पेशावर में मौजूद पांच सरोवर की वजह से इसका नाम पंज तीरथ रखा गया था।

पाकिस्तान में खैबर पख्तुनवा के डायरेक्टरेट ऑफ आर्कियोलॉजी एंड म्यूज़ियम ने केपी एंटीक्विटीज़ ऐक्ट 2016 के अधीन एक नोटिफिकेशन जारी कर पंज तीरथ पार्क को एक ऐतिहासित विरासत की घोषणा की है।

वही पुरातत्व निदेशालय ने खैबर पख्तूनख्वा सरकार से पंज तीरथ स्थल के अगल-बगल मौजूद अतिक्रमण भी हटाने को कहा है। साथ ही इस स्थल के चारों तरफ एक बाउंडरी वॉल बनाने के लिए भी सरकार से गुजारिश की है। इसके अलावा अब इस ऐतिहासिक स्थल को नुकसान करने का दोषी पाये जाने पर 20 लाख रूपये जुर्माना और पांच साल तक की सजा का प्रावधान है।

खबरों की माने तो ऐसा कहा जाता है की इस स्थल का नाता महाभारत काल के पांडु से था। हिंदू कार्तिक महीने में इन तालाबों में नहाने आया करते थे। और यहीं पेड़ो के नीचे दो दिनों तक पूजा-अर्चना करते थे। 1747 में अफगान दुर्रानी राजवंश के शासनकाल के समय यह जगह क्षतिग्रस्त हो गयी थी। लेकिन 1834 में सिख शासन के समय स्थानीय हिन्दुओं ने फिर से बनाकर पूजा अर्चना शुरू कर दी थी।

Loading...