पहले हुई सैकड़ों कौवे की मौत, और अब कोरोना के बीच एक साथ मरी मिली सैकड़ों गिलहरिया, क्या हवा में प्रवेश कर चूका है संक्रमण?

बिहार: समस्तीपुर में कोरोना वायरस से संघर्ष के लिए जारी लॉकडाउन के बीच एक साथ दर्जन भर गिलहरियों की मौत से बवाल मच गया है। जिसको लेकर स्थानीय लोग काफी परेशान हैं, उनके मन में तरह तरह के विचार आ रहे हैं। मेरा प्रखंड के मेरा उत्तरी पंचायत स्थित भाग्यरानी स्थान परिसर के एक पीपल के पेड़ से दर्जन भर गिलहरियां मरी हुई नीचे गिरी मिली है। जिसकी सूचना स्थानीय लोगों ने मुखिया मधु देवी तथा मेरा प्रखंड कार्यालय में पदस्थापित पशुपालन विभाग के अधिकारियों को दी।

पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि गिलहरियों के सैंपल्स को जांच के लिए भेजा गया है। इनकी मौत किस वजह से हुई यह जांच के बाद सामने आने वाले नतीजों से ही पता चल सकेगा। फ़िलहाल पूरे क्षेत्र में लोगों के बीच इसे लेकर चर्चाएं गर्म हैं।

कुछ दिनों पूर्व यहां एक साथ कई कौवे की भी मौत हो गई थी। इससे बर्ड फ्लू के बारे में शंकाएं गहरा गईं। सूबे में कौवों की मौत पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही है। जगह जगह झुंड में कौवे मरे हुए पाए जा रहे हैं। इससे बर्ड फ्लू के फैलने को लेकर लोग डरे सहमे हैं।

लेकिन कोरोना से बचाव के इंतजामों ने बर्ड फ्लू की आशंकाओं को दबाए रखा है। लेकिन विभिन्न शहरों में आए दिन कौवों की मौत जारी रहने से बिहार में बर्ड फ्लू का खतरा काफी बढ़ गया है। लॉकडाउन से पूर्व पटना हाईकोर्ट के मुख्य द्वार पर एक साथ कई दिनों तक कौवों की मौत का सिलसिला जारी रहने पर मुख्यत न्यायाधीश के निर्देश पर सारी दुकानें बंद करा दी गई थीं। अब लॉकडाउन के बीच पक्षियों के साथ गिलहरियों की मौत से भी दहशत बढ़ गई है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …