कोरोना जंग में अपने से ज्यादा दूसरों की फिक्र, कैंसर के दर्द से बेचैन के बावजूद ये अफसर निभाता रहा ड्यूटी

कोरोना वैश्विक महामारी को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया गया है। जिसमें कोरोना वारियर्स का हम योगदान है। वही कोरोना वारियर्स का हिस्सा रहे दिल्ली के बाहरी इलाके में तैनात एडिशनल डिप्टी कमिश्नर के रूप में आनंद मिश्रा देश के सच्चे सिपाही के रूप में अपना फर्ज निभा रहे हैं। थायराइड कैंसर से जूझ रहे आनंद मिश्रा ने अपनी ड्यूटी निभाना संकट में ठीक समझा।

एशियानेट न्यूज़ में छपी खबर के अनुसार, आनंद मिश्रा 2009 बैच के आईपीएस ऑफिसर है जो फिलहाल कोरोनावायरस के रूप में दिल्ली में बतौर एडिशनल डिप्टी कमिश्नर के रूप में तैनात हैं। लॉकडाउन के बीच आनंद अपने गले में तेज दर्द और सूजन से बेचैन होने के बावजूद ड्यूटी की जिम्मेदारियां पूरी ईमानदारी से निभा रहे थे। अपनी तकलीफ के ऊपर बिना ध्यान दिए अपने फर्ज और ड्यूटी को प्रमुखता दी।

कुछ दिन बाद जब दर्द बर्दाश्त के बाहर हो गया तब आनंद ने ऑपरेशन कराने का फैसला किया। उन्होंने सबसे पहले यूपी के मथुरा में डीएसपी के पद पर तैनात अपनी पत्नी आलोक तथा बेंगलुरु में रह रहे अपने बड़े भाई को भी इस बीमारी से अवगत कराया पत्नी और भाई में तुरंत डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी।

आनंद मिश्रा का राजीव गांधी कैंसर इंस्टिट्यूट में ऑपरेशन सफल रहा और अब पहले से बेहतर महसूस कर रहे हैं फिलहाल अभी भी अस्पताल में ही भर्ती है। आनंद का कहना है कि उन्हें भरोसा है कि वह सप्ताह भर में दोबारा ड्यूटी ज्वाइन कर सकेंगे। संकट के समय में जनता की हर संभव मदद के लिए तैयार रहेंगे आनंद अपने इस जज्बे के चलते दिल्ली पुलिस में एक मिसाल बन गए हैं।

Check Also

अजब गज़ब: इस देश की घड़ियों में कभी नहीं बजते बारह, जिसकी वजह जानकर आप लंबी सोच में पड़ जाएंगे..

जब भी घडी में 12 बजते है, तभी दिन में कोई न कोई बदलाव आता …