शाहीन बाग की महिलाओं पर 500 रुपये देकर प्रोटेस्ट करने के मामले में, बीजेपी को तगड़ा झटका

भारत सरकार दवारा लागु किये गए नागरिकता संशोधन बिल को लेकर पुरे देश में बवाल मचा हुआ है। कई लोग इस बिल का समर्थन कर रहे हैं, तो कई लोग इसका विरोध कर रहे हैं। लेकिन अधिकतर लोग इस बिल के विरोध में हैं। जहां पुरे भारत में इस बिल को लेकर प्रदर्शन थम गया था, वहीं दिल्ली के शाहीन बाग़ में लगातार प्रोटेस्ट जारी है। जिसको 37 दिन पूरे हो चुके हैं।

शाहीन बाग़ में विरोध प्रदर्शन को लेकर बीजेपी की ओर से इन प्रदर्शनकारियों महिलाओं पर पैसे लेकर विरोध करने जैसा आरोप लगाया गया था। इसी संदर्भ में भजपा को तगड़ा झटका लगा है। इस मामले में शाहीन बाग की दो महिलाओं ने बीजेपी आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय को एक करोड़ की मानहानि का नोटिस भेजा है।

अमित मालवीय के साथ ही वकील महमूद पारचा के जरिए उन चैनलों को भी नोटिस भेजा गया है, जिसने वायरल वीडियो को चलाया था। अभी व्यक्तिगत तौर पर नोटिस भेजा गया है। लेकिन निचली अदालत में मानहानि का मुकद्दमा दायर नहीं हुआ है। इस नोटिस में अमित मालवीय से कहा गया है कि उनके द्वारा पोस्ट और प्रसारित किए गए वीडियो में प्रदर्शनकारी 500-700 रुपये लेकर प्रदर्शन करते दिखाए जा रहे हैं। इस तरह के बयान न सिर्फ झूठ हैं बल्कि इनकी वजह से प्रदर्शन को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बीच बदनाम करने की कोशिश की गई है।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …