कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन इसे सही तरीके से लागू नहीं किया गया

कोरोना के बढ़ते मामलो के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का फैसला बिना तैयारी के ले लिया जिसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए CWC की बैठक में सोनिया ने केंद्र सरकार पर पर जमकर निशाना साधा।

अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि, देश में कोरोना वायरस की स्थिति गंभीर है, और इसे लेकर सरकार के कदम उठाए जाने की जरूरत तो थी लेकिन पीएम मोदी ने लॉकडाउन का फैसला बिना तैयारी के ले लिया। इस 21 दिनों के लॉकडाउन की कोई तैयारी नहीं होने के कारण गरीबों और मजदूरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा कि 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन इसे अनियोजित तरीके से लागू किया गया। लॉकडाउन के कारण लाखों प्रवासी मजदूरों का उत्पीड़न हुआ। सोनिया ने कहा कि सरकार को डॉक्टरों, नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण प्रदान करना चाहिए।

केंद्र सरकार से सोनिया गांधी ने मध्यम वर्ग के लिए एक सामान्य न्यूनतम राहत कार्यक्रम तैयार करने और प्रकाशित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकारों, फ्रंटल संगठनों, हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ना चाहिए और उन परिवारों को अपनी मदद की पेशकश करनी चाहिए जो अत्यधिक जोखिम में हैं। साथ ही मजदूरों के पलायन पर राहुल गांधी ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने कहा कि हम दो महीनों से कोरोना पर नजर बनाए हुए हैं और विशेषज्ञों से बात कर रहे हैं। दुनिया का कोई ऐसा देश नहीं है, जो मजदूरों के रहने, खाने और उनके राशन की व्यवस्था किए बिना लॉकडाउन का ऐलान कर देता है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …