हापुड़ लिंचिंग मामले में योगी सरकार से जवाब तलब, कासिम के बेटे की मांग – मामले की दूसरी एसआईटी करे जांच

0
1858

जून 2018 में उत्तर प्रदेश के हापुड़ में गौकशी के शक में लिंचिंग का शिकार हुए कासिम के मामले में दायर एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। कासिम के बेटे की तरफ से कोर्ट में याचिका दायर कर इस मामले की जांच यूपी से बाहर की एसआईटी से जाँच कराने की माँग की थी।

वही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए यूपी पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब देने को कहा है। इसके अलावा अदालत ने इस मामले को समीउद्दीन की याचिका के साथ जोड़ दिया है। पीड़ित पक्ष के मेहताब ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कोर्ट को बताया की इस लिंचिंग मामले में पुलिस ने अभी तक चश्मदीदों के बयान तक दर्ज नहीं किए हैं। इसलिए हम जांच के लिए एसआईटी गठित किए जाने की मांग करते है।

वही इस लिंचिंग मामले में दो दर्जन से ज्यादा लोगो को नामजद किया गया था। लेकिन आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने चश्मदीदों के बयान तक दर्ज नहीं किए। बतादे की सितंबर 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने अलग से आदेश जारी कर इस मामले की जाँच मेरठ रेंज के आईजी की देख-रेख में कराने का आदेश दिया था।

साथ ही कोर्ट ने आईजी को यह हिदायत दी थी की लिंचिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट के पूर्व के फैसले के तहत कार्रवाई करे। यहाँ तक की सुप्रीम कोर्ट की तरफ से जारी दिशा निर्देश में साफ़ कहा गया था की जो पुलिस अधिकारी इस मामले में कार्रवाई न करे उन पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

इससे पहले कोर्ट द्वारा मामले की सुनवाई के दौरान आईजी ने सीलबंद लिफाफे में अपनी रिपोर्ट दी थी। सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस ने अदालत को बताया था इस मामले के 11 आरोपियों में से 10 की गिरफ्तारी की जा चुकी है लेकिन एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है। जिसे भगोड़ा घोषित किये जाने की कार्रवाई जारी है।

Loading...