इस तरह बवासीर को छुमंतर कर देगा ये अनोखा छुईमुई का पौधा, जानिए कैसे

आज हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं, जिसको जानकर शयद आपको फायदा हो जाये। दुनियाभर में कई ऐसी जड़ी बुटिया है जिनके फायदों के बारे में किसी को नहीं पता होता। और लोग लाखो रुपए कई तरह की दवाई में लगा देते हैं लेकिन फिर भी उनको फयदा होता नहीं दीखता। चलिए जानते हैं कुछ काम की बात छुईमुई पौधा नमी वाले स्थानों में अधिक मिल जाता हैं, इस छोटे से पौधे में अनेक शाखाएं होती है।

इस पौधे का वानस्पतिक नाम माईमोसा पुदिका है। यह पौधा अनेक रोगों के छुटकारा दिलाने लाभदायक है, इसकी पहचान यह है कि इनके पत्ते को छूने पर ये सिकुड़ जाते हैं। इस पौधे पर गुलाबी रंग के फूल होते हैं। यह एक विशेष पौधा है। चलिए जानते हैं इसके फयदे..

यदि छुईमुई की 100 ग्राम पत्तियों को 300 मिली पानी में डालकर काढ़ा बनाए जिसके सेवन से मधुमेह के रोगियों को काफी फायदा होगा। साथ ही छुईमुई की जड़ों का चूर्ण 3 ग्राम दही के साथ खूनी दस्त से ग्रस्त रोगी को खिलाने से दस्त जल्दी बंद हो जाती है। आदिवासी भी इस तरह की परेशानी में इसका ही सेवन करते हैं। छुई-मुई की जड़ और पत्तों का पाउडर दूध में मिलाकर दो बार लेने से बवासीर रोग जड़ से खत्म हो जायेगा, पत्तियों के रस को बवासीर के घाव पर सीधे लगाने से घाव जल्दी सूखने लगता है। यह खून के बहाव को भी बंद कर देता है।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …