भारत के बड़े बैंक एसबीआई ने जारी किया कोरोना के बीच हाई अलर्ट, खाली हो सकते हैं सबके खाते, क्युकी मौजूदा समय में देश…

भारत के बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने ग्राहकों को एक नए तरीके से हो रहे साइबर क्राइम के बारे में चेताया है। SBI ने बताया है कि, ‘कुछ धोखेबाज ग्राहकों को कॉल कर अपने लोन का ईएमआई रुकवाने के लिए अपना ओटोपी उनसे शेयर करने के लिए कह रहे हैं।’

एसबीआई बैंक ने एक ट्वीट कर कहा है कि ईएमआई नहीं चुकाने के लिए ओटीपी साझा करना जरूरी नहीं है। इसलिए आप कुछ भी करके अपना ओटीपी किसी को भी न बताएं। एक बार ओटीपी शेयर करने के बाद धोखेबाजों द्वारा तुरंत आपके खाते से सम्पूर्ण राशि निकाल ली जाती हैं। एसबीआई ने अपने ग्राहकों को अपने ओटीपी को साझा नहीं करने की सलाह दी है।

एसबीआई ने ट्वीट में बताया है कि, साइबर जालसाजों ने लोगों को ठगने के लिए एक नया तरीका खोजा हैं। साइबर अपराधियों को हराने का एकमात्र तरीका सतर्क और जागरूक होना है। बैंक ने आगे बताया है कि ईएमआई डिफर्मेंट के लिए ओटीपी शेयरिंग की कोई आवश्यकता नहीं है। अपने ओटीपी को साझा न करें। ईएमआई डिफर्मेंट स्कीम की ज्यादा जानकारी के लिए बैंक की साइट पर जाएं।

बैंक ने कहा है कि,” फ्रॉड यूपीआई आईडी से डोनेशन मांगने वालों से भी सावधान रहें। अपनी कमाई को डोनेट करने से पहले सोचें। फंड ट्रांसफर करने से पहले पैसे प्राप्त करने वाले की पहचान की जांच करें।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …