17 मार्च को बिक जाएगी भारतीय विमान कंपनी एयर इंडिया, सरकार के पास पैसा नहीं

भारतीय विमान कंपनी एयर इंडिया भारत सरकार दवारा बेचे जाने की खबरों को लेकर कपिल सिब्बल ने बयान दिया है। कपिल सिब्बल ने इस मामले को लेकर सरकार पर निशाना साधा है उन्होंने कहा कि, सरकार के पास जब पैसे नहीं होते, तभी वह ऐसा करती है। साथ ही कपिल सिब्बल ने अर्थव्यवस्था और मनरेगा में बकाया को लेकर भी सरकार को आड़े हाथों लिया।

उन्होंने कहा, ‘जब सरकार के पास पैसे नहीं होते, तब वह ऐसा ही करती है। भारत सरकार के पास पैसा नहीं है, ग्रोथ 5 फीसदी से भी कम है और मनरेगा में लाखों रुपये का पेमेंट नहीं किया गया है। यह वही है जो वो करेंगे, हमारे पास मौजूद सभी बेशकीमती संपत्तियां बेच देंगे।’ आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय विमान कंपनी एयर इंडिया की 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए सरकार ने बोलियां मंगाई हैं। जिसकी आखिरी तारीख 17 मार्च 2020 तय हुई है।

यही नहीं मोदी सरकार दवारा सब्सिडियरी कंपनी एयर इंडिया एक्सप्रेस और एयरपोर्ट सर्विस कंपनी AISATS की हिस्सेदारी बेचने के लिए बोलियां आमंत्रित की गई हैं। भारतीय विमान कंपनी एयर इंडिया के निजीकरण के लिए 7 जनवरी को ही गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में बने एक मंत्री समूह ने निजीकरण से जुड़े प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। पहले सरकार ने 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए बोलियां मंगवाई गई थीं। लेकिन कोई खरीदार नहीं मिला था। अब सरकार ने 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का फैसला लिया है। एयर इंडिया काफी लंबे समय से घाटे में चल रही है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …