Indian Railway की अपील, श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सफर करने से बचे गर्भवती महिलाएं, बच्चे व बुजुर्ग

नई दिल्ली: इस लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। हालाँकि भारतीय रेल कई श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है ताकि प्रवासी मजदूर अपने घर पहुँच सके। लेकिन कुछ दिनों में ट्रेनों के अंदर डिहाइड्रेशन की वजह से हुई मौतों ने रेलवे को अपने नियम में बदलाव करना पड़ा है।

रेल मंत्रालय, गृह मंत्रालय के आदेश क्रमांक 40-3/2020-DM-l(A) दिनांक 17.05.2020 के अंतर्गत अपील कर रहा है की गर्भवती महिलाएं, 65 साल के बुजुर्ग, गंभीर बीमारी से ग्रसित और 10 साल से कम उम्र के बच्चे बहुत जरुरत पड़ने पर ही ट्रेन की यात्रा करे। रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। किसी भी मुश्किल, परेशानी में आप 139 और 138 पर कॉल कर मदद ले सकते है।

वही रेलवे ने अपने टिकट बुकिंग नियमो में कुछ बदलाव किया है। भारतीय रेलवे ने लॉकडाउन के बीच चल रही 30 स्पेशल ट्रेनों और 1 जून से चलने वाली 200 ट्रेनों की टिकट बुकिंग नियमो में बदलाव कर दिया है। रेलवे ने इन ट्रेनों के टिकटों की बुकिंग के लिए समय को बढ़ा दिया है। अब यात्री 120 दिन पहले टिकट बुक करा सकते है।

भारतीय रेलवे ने अपने नियमो में कहा था की स्पेशल ट्रेनों और 200 मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में टिकट के लिए 30 दिन पहले बुकिंग हो सकती है। लेकिन उससे पहले रेलवे इन ट्रेनों में टिकट की बुकिंग के लिए 1 सप्ताह का ही समय निर्धारित किया था।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, “रेल मंत्रालय 12 मई से चलने वाली सभी 30 विशेष राजधानी ट्रेन और 200 विशेष मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए अग्रिम आरक्षण अवधि (एआरपी) बढ़ाया है और 1 जून से 30 दिनों से लेकर 120 दिनों तक टिकट की बुकिंग हो सकती है। इन सभी 230 ट्रेनों में पार्सल और सामान की बुकिंग की अनुमति है।”

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …