मोदी के आने से भारत की ग्रोथ रेट 9% से घटकर 5% हुई, 1 करोड़ लोगो ने खोया रोजगार: राहुल गांधी

युवा आक्रोश रैली जयपुर में राहुल गांधी ने कहा पिछले साल देश के एक करोड़ युवाओं का रोजगार छिन गया, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी इस पर मौन हैं। CAA, NRC और NPR पर लंबे भाषण देने वाले मोदी इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोलते। सभा संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि, यूपीए सरकार के समय देश की ग्रोथ रेट 9% थी, जो अब घटकर 5% रह गई। हम गरीबों को पैसा देते थे, जिससे बाजार की खपत बढ़ती थी और ग्रोथ होती थी, लेकिन मोदी ने इकोनॉमिक्स नहीं पढ़ा, इसलिए उन्हें यह बात समझ नहीं आती।

राहुल ने कहा कि देश का हर युवा मौजूदा हालात को जानता है। हर देश के पास कोई न कोई पूंजी होती है। अमेरिका के पास हथियार, सबसे बड़ी नेवी, एयरफोर्स और आर्मी है। सऊदी के पास तेल है। हिंदुस्तान के पास करोड़ों युवा हैं। पूरी दुनिया यह मानती है कि भारत का युवा दुनिया को बदल सकता है। ओबामा ने कहा था चाइना और हिंदुस्तान का मुकाबला अमेरिका नहीं कर पाएगा।

पूरी दुनिया से लोग हिंदुस्तान के युवाओं में इन्वेस्ट करने आते थे, क्योंकि वे आप में भरोसा करते थे। लेकिन, आज में दुख से कहता हूं कि 21वीं सदी का हिंदुस्तान अपनी पूंजी को बर्बाद कर रहा है। जो आप इस देश के लिए कर सकते हैं, उसे सरकार और हमारे पीएम होने नहीं दे रहे हैं।

आज हिंदुस्तान का युवा कॉलेज स्कूल में जाकर पढ़ता है, लेकिन पढ़ाई के बाद उसे रोजगार नहीं मिलता। पिछले साल हिंदुस्तान में 1 करोड़ युवाओं ने रोजगार खोया। हमारे पीएम जहां भी जाते हैं, लंबे-लंबे भाषण देते हैं। एनआरसी सीएए और एनपीआर की बात करते हैं, लेकिन जो सबसे बड़ी समस्या है, हमारे पीएम उस पर एक शब्द नहीं बोलते हैं।

राहुल गांधी ने कहा- यूपीए के समय देश की ग्रोथ रेट 9% थी। पूरी दुनिया हिंदुस्तान की तरफ देख रही थी। अब जहां जीडीपी नई तरीके से नापी जाती है, तो वह घटकर 5% फीसदी रह गई है। अगर यूपीए के तरीके से नापें, तो यह 2.5% ही है।
यूपीए के समय हम पैसा गरीबों को देते थे। सवाल यह है कि हम पैसा गरीबों को क्यों देते थे? जैसे ही हिंदुस्तान के गरीब लोग माल खरीदते थे, फैक्ट्रियां चालू हो जाती थीं। फैक्ट्रियां माल बनाती थीं, उन्ही फैक्ट्रियों में रोजगार मिलता था और इन्वेस्टमेंट आता था। नरेद्र मोदी इकॉनोमिक्स नहीं पढ़ें हैं, इसलिए समझते नहीं हैं।

राहुल गांधी ने कहा- आपकी जेब से 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए निकाल कर नरेंद्र मोदी ने 15 सबसे अमीर लोगों का कर्जा माफ कराया। कुछ महीने पहले 1 लाख 50 हजार करोड़ रुपए का टैक्स माफ किया। जैसे ही गरीबों से युवाओं के पास से पैसा गया, उन्होंने बाजार से सामान खरीदना बंद कर दिया। इससे फैक्ट्रियां बंद हो गईं और रोजगार चला गया।

किसी से भी पूछ लीजिए जीएसटी से क्या फायदा हुआ? कोई नहीं बोलेगा। सिर्फ अंबानी और अडानी को फायदा हुआ। खुद नरेंद्र मोदी को अब तक समझ नहीं आया कि जीएसटी क्या है। 8 साल के बच्चे से पूछ लो, नोटबंदी से फायदा हुआ या नुकसान। वो बोलेगा नुकसान हुआ।

पहले हिंदुस्तान चाइना का मुकाबला करता था। कोई भी फोन देखिए, चाइना में बना है। हिंदुस्तान उनका मुकाबला कर सकता है। और कोई कर ही नहीं सकता। हिंदुस्तान के लिए बहुत बड़ा मौका है। सभी देश तैयार हैं, जो हिंदुस्तान को मैन्यूफैक्चरिंग का कैपिटल बनाना चाहते हैं। लेकिन पहले हिंदुस्तान में शांति थीं। अब हम पढ़ते हैं कि हिंसा है। हिंदुस्तान के लोग एक-दूसरे से लड़ रहे हैं। हिंदुस्तान की सरकार हिंसा फैला रही है। हम इन्वेस्ट क्यों करें। ये काम नरेंद्र मोदी ने किया।

आप सबसे बड़े बिजनेसमैन की मदद करते हो, तो किसानों और बेरोजगारों की मदद भी करो। नरेंद्र मोदी ने पहला काम किया, पूरा फायदा 15 बिजनेसमैन को दिया। दूसरा काम जो दुनिया में हिंदुस्तान की इमेज खराब की। पूरी दुनिया कहती थी एक तरफ पाकिस्तान, जो हमेशा लड़ता है। दूसरी तरफ हिंदुस्तान प्यार और भाईचारा। इस इमेज को नरेंद्र मोदी ने बर्बाद कर दिया।

आज हमारे युवा जब पीएम से सवाल करते हैं कि देश की इमेज क्यों खराब की। आपने युवाओं के लिए क्या किया, तो आप पर गोली चलाई जाती है। मैं चेलेंज देता हूं पीएम किसी भी यूनिवर्सिटी में चले जाएं और युवाओं से सवाल पुछवाकर देख लें। नरेंद्र मोदी उनका जवाब नहीं दे सकते, लेकिन झूठे वादे जरूर कर सकते हैं।

मैं आपको एक मैसेज देने आया हूं। कांग्रेस पार्टी समझती है कि इस देश को सिर्फ एक शक्ति बदल सकती है और वो है हिंदुस्तान का युवा। आज आपको रास्ता नहीं दिखाई दे रहा, विजन दिखाई नहीं दे रहा। रोजगार नहीं मिल रहा। लेकिन, आपमें वो ऊर्जा है जो देश को बदल सकती है। पूरी दुनिया आपकी तरफ देख रही है। आप अपनी शक्ति को पहचानो।

जब आप सभी जगह मेड इन चाइना देखते हो, तो उन शब्दों की शक्ति को पहचानो। मैं चाहता हूं कि मेड इन जयपुर, मेड इन चाइना का मुकाबला कर सके। आपकी आवाज दबनी नहीं चाहिए। आपके दिल में जो बात है, वो सही है। आप बेरोजगारी पर सवाल उठाओ। भविष्य पर सवाल उठाओ। जो भी इस देश को तोड़ने की कोशिश करे, उसे बता दो कि देश को बांटने से हिंदुस्तान का सम्मान नहीं बढ़ता।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …