‘नेहा शर्मा’ और ‘पूजा रंजन’ के फर्जी एकाउंट पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को देता था ‘ब्रह्मोस’ की जानकारी

0
350

यूपी ATS ने सोमवार को ब्रह्मोस मिसाइल का डाटा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI को लीक करने के आरोप में अभियान्ता निशांत अग्रवाल को गिरफ्तार किया था। जिसे पूछताछ के लिए लखनऊ ले जाया गया था जहाँ निशांत अग्रवाल के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। वह फेसबुक पर नेहा शर्मा और पूजा रंजन के नाम के फर्जी एकाउंट पर पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी ISI से संपर्क में था।


उत्तर प्रदेश ATS ने मंगलवार को नागपुर में जूनियर मैजिस्ट्रेट प्रथम क्लास एस एम जोशी की अदालत में अभियान्ता निशांत को पेश कर उसे लखनऊ ले जाने के लिए ट्रांजिट रिमांड मांगा था। इस दौरान यूपी ATS ने अदालत को बताया कि इंजीनियर निशांत अग्रवाल बहुत संवेदनशील काम में होने के बावजूद इंटरनेट इस्तेमाल करने को लेकर काफी लापरवाह था। जिसकी वजह से वह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी का आसानी से शिकार बना।

साथ ही ATS ने अदालत को बताया की आरोपी के खुद के लैपटॉप में PDF फारमेट मे महत्वपूर्ण फाईले मिली है। जांच अधिकारी ने बताया की की सब उच्च गोपनीय सूचनाएं हैं जिन्हे अगर शेयर किया जाए तो यह देश के लिए खतरा हो सकता है। जांच एजेंसी द्वारा जब्त अभियान्ता के निजी लेपटॉप से सुरक्षा के कुछ गुप्त दस्तावेज मिले हैं।

इसके अलावा अभियान्ता निशांत के रूड़की स्थित आवास से एक पुराना कम्प्यूटर भी कब्जे में लिया गया है। और इसकी सामग्री की गहन जांच की जा रही है। ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्ट की धारा 3, 4, 5 व 9 समेत IPC की धारा 419, 420, 467, 468, 120 (बी) व 121 (ए) और IT एक्ट की धारा 66 (बी) के तहत इंजीनियर निशांत अग्रवाल को आरोपी बनाया गया है।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here