इस मुश्किल घड़ी में भारत के खिलाफ ईरान ने दिया, बड़ा बेशर्म बयान कहा, मोदी एक

ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने देश की राजधानी दिल्‍ली में हुए दंगों को लेकर बड़ा ही बेशर्म बयान देते हुए नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के मुद्दे पर दिल्‍ली हिंसा को धर्म के साथ जोड़ दिया है। अयातुल्ला अली खामनेई दवारा कहा गया है कि भारत के मौजूदा हालात को देखते हुए वहां मुस्लिम खतरे में हैं।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार से तथाकथित कट्टरपंथी हिंदुओं और उनकी पार्टियों को रोकने चाहिए। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि दिल्ली में हुई हालिया हिंसा से दुनिया भर के मुसलमान दुखी हैं। अयातुल्ला अली खामनेई ने अपने ट्वीट में लिखा, ”भारत में मुसलमानों के नरसंहार से दुनियाभर में मुसलमान दुखी हैं। भारत सरकार को कट्टरपंथी हिंदुओं और उनकी पार्टियों को रोकना चाहिए तथा इस्लामी जगत से भारत को अलग-थलग पड़ने से बचाने के लिए मुसलमानों के नरसंहार को रोकना चाहिए।”

ईरानी सुप्रीम लीडर ने ट्वीट के साथ #IndianMuslimslnDanger हैशटैग का इस्तेमाल किया। खामनेई ने अंग्रेजी के अलावा, उर्दू, पारसी और अरबी में ट्वीट किया। इसके साथ हिंसा में मारे गए व्यक्ति के बच्चे की रोती हुई फोटो भी पोस्ट की। अयातुल्ला अली खामनेई के बयान के बाद पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान को भी सांस आ गई है। उन्‍होंने कहा कि वह लगातार ईरान, तुर्की, मलेशिया समेत अन्य मुस्लिम देशों से कश्मीरी मुस्लिमों के लिए आवाज बुलंद करने की अपील कर चुके हैं।

खामनेई से पहले ईरान के विदेश मंत्री जावेद जरीफ ने दिल्ली हिंसा को लेकर एक बयान दिया था जिसकी भारत की आलोचना की थी। जावेद जरीफ ने ट्वीट किया था, ”हम भारत में मुस्लिमों के खिलाफ सुनियोजित हिंसा की निंदा करते हैं। सदियों से भारत और ईरान दोस्त रहे हैं। हम भारत सरकार से अपील करते हैं कि सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।”

आपकी जानकरी के लिए आपको बता दें कि दिल्ली में 23 से 26 फरवरी तक सीएए के समर्थक और विरोधी गुटों में हिंसक झड़प हुई थीं। इस दौरान कई जगह आगजनी, फायरिंग और पथराव हुआ था। हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा अब तक 53 हो चुका है, जबकि 200 से ज्यादा जख्मी हैं।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …