ishant sharma remembered ms dhoni last test match when wicketkeeper told him Lambu you left me midway in my last Test

0


भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी ने 30 दिसंबर 2014 के दिन बॉक्सिंग डे टेस्ट बचाने के बाद क्रिकेट के सबसे बड़े फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान करके दुनियाभर के करोड़ों फैन्स को चौंका दिया था। मेलबर्न में खेले गए टेस्ट सीरीज के तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में धोनी ने नाबाद 24 रनों की पारी खेलकर मैच को ड्रॉ करवाने में अहम भूमिका निभाई थी। फैन्स को यह यकीन ही नहीं हो रहा था कि धोनी ऐसे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बीच में संन्यास का फैसला ले लेंगे। उनकी जगह विराट कोहली को टीम का नया कप्तान बनाया गया था। इस मैच में टीम की तरफ से खेले तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने एमएस धोनी को लेकर बड़ा खुलासा किया है।  

ईशांत ने आर अश्विन के साथ बातचीत के दौरान कहा कि, ”उस मैच में मैं भी खेला था, जो माही भाई का आखिरी टेस्ट था। उस मैच के दौरान मेरे घुटनों में बहुत दर्द था और मैं हर सेशन में इंजेक्शन ले रहा था।” धोनी के संन्यास लेने की बात पर ईशांत ने कहा कि उस समय हम में से किसी के दिमाग में यह बात नहीं था कि वे अपने टेस्ट करियर पर ऐसे विराम लगा देंगे। उन्होंने कहा कि, ”मुझे यह जानकर बहुत बुरा लगा था कि धोनी भाई ने संन्यास ले लिया था।”

ऐतिहासिक मौकों का गवाह रहा है मोटेरा, क्या अश्विन लिखेंगे नया इतिहास?

अपने दर्द पर बात करते हुए ईशांत ने बताया कि वे बार-बार इंजेक्शन लेने की वजह से परेशान हो गए थे। इसलिए वो धोनी के पास गए और उनसे कहा कि अब वो और इंजेक्शन नहीं ले पाएंगे। इस पर धोनी ने कहा कि ठीक है, अब तुम बॉलिंग मत करो। उसके कुछ समय बाद ही धोनी ने उनसे कहा था कि, ”लंबू, तूने मुझे टेस्ट मैच में अकेले छोड़ दिया।” ईशांत के मुताबिक, वो धोनी की इस बात को सही से समझ नहीं पाए थे।

धोनी की उपलब्धियों की बात करें तो उन्होंने भारत की तरफ से 90 टेस्ट मैच खेले हैं। वो चाहते तो अपने द्वारा खेले गए टेस्ट मैचों की संख्या को 100 भी कर सकते थे, लेकिन उन्होंने इस उपलब्धि के बारे में जरा सा भी नहीं सोचा और संन्यास का ऐलान कर दिया। धोनी दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने अपनी कप्तानी में आईसीसी के तीनों खिताब पर कब्जा जमाया है। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 में क्रिकेट विश्व कप और 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब जीता है। इसके अलावा धोनी की ही कप्तानी में टीम इंडिया पहली बार टेस्ट की नंबर एक टीम बनी थी।

IND vs ENG: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने किया कुछ ऐसा कि मजबूर हुआ ICC, पूछा-तुम क्या नहीं कर सकते?



Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।