भारत की बंद मस्जिदों को लेकर जावेद अख्तर का बड़ा बयान, बोले अगर काबा और मदीना…

इस समय पुरे देश में हाई अलर्ट जारी है। पूरा भारत 21 दिनों के लिए बंद है, 21 दिनों के लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है। कुछ लोग लॉक डाउन का सही से पालन नहीं कर रहे हैं, जिसको लेकर सरकार ने अब और भी सख्त कदम उठाए हैं।

एक बड़ी खबर ये है कि, दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात में हिस्सा लेने के लिए देश-विदेश से करीब दो हजार की संख्या में प्रतिनिधि शामिल हुए थे। इसी को देखते हुए अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष ताहिर महमूद ने दारलूम देवबंद से अपील की है कि, जब तक कोरोना संकट है तब तक सभी मस्जिदों को बंद करने का फतवा दें। ताहिर महमूद की इस अपील के बाद अब लेखक जावेद अख्तर का बड़ा बयान आया है।

ताहिर महमूद की अपील सुनते ही जावेद अख्तर ने भी ट्विटर के जरिए कहा कि, ताहिर महमूद साहब एक विद्वान और अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष ने दारुल उलूम देवबंद से कहा है कि जब तक कोरोना संकट है तब तक सभी मस्जिदों को बंद करने के लिए फतवा दें। जावेद बोले कि मैं उनकी मांग का पूरी तरह से समर्थन करता हूं। अगर काबा और मदीना में मस्जिदों को बंद किया जा सकता है तो भारतीय मस्जिदों को क्यों नहीं?

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …