कर्ज में डूबी जेट एयरवेज की और बढ़ी मुसीबत, 1100 पायलट कल से नहीं उड़ाएंगे जहाज

0
637
Loading...

जेट एयरवेज इन दिनों तंगी से जूझ रहा है। वही आज जेट एयरवेज के पायलटों के राष्ट्रीय संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) के 1,100 पायलटों ने विमान नहीं उड़ाने का फैसला किया है। मिली खबरों के अनुसार, यह सभी पायलट सोमवार 15 अप्रैल से जेट एयरवेज का एक भी विमान नहीं उड़ाने का फैसल लिया है।

लाइव हिंदुस्तान में छपी खबर के अनुसार, जेट एयरवेज ने पायलट के अलावा इंजीनियर और उच्च प्रबंधकों को भी जनवरी से सैलरी नहीं दी है। अपनी तंगी से जूझ रही जेट एयरवेज ने दूसरे कर्मचारियों को भी मार्च की सैलरी नहीं दी है।

वही एनएजी के एक सूत्र ने जानकारी देते हुए कहा की, ”अब तक हमें करीब पिछले साढ़े तीन महीने का वेतन नहीं मिला है और हमें नहीं पता कि हमारा वेतन कब मिलेगा। इसलिए हमने 15 अप्रैल से जहाज नहीं उड़ाने के अपने फैसले के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लिया है। एनएजी के सभी 1,100 पायलट सोमवार सुबह से उड़ान नहीं भरेंगे।”

बतादे की राष्ट्रीय संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड के 1,100 पायलटों ने 1 अप्रैल से विमान नहीं उड़ाने का फैसला किया था। लेकिन 15 दिन की और मोहलत देते हुए अपनी अवधी को 15 अप्रैल तक टाल दिया था। अपने जवाब में एनएजी ने कहा था की नए प्रबंधन को कुछ दिन की मोहलत दी जाएगी। गौरतलब है की इन दिनों जेट एयरवेज के प्रबंधन का कामकाज भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई में बैंकों का एक समूह देख-रेख कर रहा है।

Loading...