काबुल: शांति समझौते के बाद राजनीतिक रैली में हमला, 27 लोगो की मौत, 29 लोग जख्मी

शुक्रवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पश्चिमी हिस्से में राजनेता अब्दुल अली माजारी की स्मृति में आयोजित एक रैली के दौरान हुई गोलाबारी में 27 लोगों की मौत हो गई। इस हमले को अमेरिका और तालिबान के बीच हुए समझौते के बाद से बड़ा हमला माना जा रहा है। अभी तक किसी भी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नुसरत रहीमी ने बताया कि हमले में महिलाएं व बच्चे भी मारे गए हैं वहीं 29 लोग जख्मी हुए हैं। आगे बताया कि, ‘‘ अफगान विशेष बल हमलावरों के खिलाफ अभियान को अंजाम दे रहे हैं।’’ प्रवक्ता ने यह भी कहा कि, ‘‘इन आंकड़ों में बदलाव होगा।’’

वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी निजामुद्दीन जलील ने मरने वालों की संख्या को कम बताते हुए कहा कि केवल 29 लोग मारे गए हैं जबकि 30 अन्य घायल है। सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरों में देखा जा सकता है कि हमले के बाद लोग शवों को इकट्ठा करते दिख रहे हैं।

वही इस हमले की निंदा करते हुए राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा, ‘‘मानवता के खिलाफ अपराध’’ करार दिया। इस राजनीतिक रैली में अफगानिस्तान के चीफ कार्यकारी अब्दुल्ला समेत देश के कई बड़े नेता शामिल हुए थे।

गृह मंत्रालय ने बाद में मीडिया से इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि, ‘‘सभी उच्च पदस्थ अधिकारियों को मौके से सुरक्षित निकाल लिया गया।’’ हाजरा नेता मोहम्मद मोहा मोहाकिक ने तोलो न्यूज को जानकारी देते हुए कहा की, ‘‘गोलियां चलने के बाद हम समारोह से निकल गएथे और कई लोग घायल हुए, लेकिन हमारे पास मारे गए लोगों के बारे में जानकारी नहीं है।”

Check Also

पाकिस्तान प्लेन क्रैश का वीडियो आया सामने, 2 लोगो के जिन्दा होने की खबर

शुक्रवार को पाकिस्तान इंटरनेशनल की फ्लाइट A320 लैंडिंग से ठीक पहले दुर्घटनाग्रस्त हो गयी थी। …