#किसान_क्रांति_पदयात्रा समाप्‍त- राजनाथ सिंह से मुलाकात में बनी कई मांगों पर सहमति

0
237
Loading...

दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले निकली किसान क्रांति पदयात्रा कर्ज माफी की मांग को लेकर किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ मौर्चा खोल दिया था। किसानों की मोदी सरकार से कर्जमाफी, बिजली के दाम घटाने जैसी कई मांगों को लेकर मौर्चा खोल दिया है। किसान क्रांति पदयात्रा में शामिल हजारों की संख्या में किसान दिल्ली की तरफ बढ़ रहे है। जहाँ दिल्ली-यूपी बार्डर पर पुलिस के साथ हुई तीखी झड़प भी हुई। किसान रैली चौधरी चरण सिंह की समाधि स्थल किसान घाट पहुंचे और बुधवार की तड़के सुबह यात्रा को समाप्त किया।

आपको बतादे की किसानो की पुलिस के साथ हुई तीखी झड़प के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की मुलाकात हुई। मुलाकात में ज्यादातर मांगो पर सहमति बनी उसके बाद #किसान_क्रांति_पदयात्रा समाप्त हुई। यात्रा समाप्त होने के बाद के भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने न्यूज़ एजेंसी ANI से बताया की #किसान_क्रांति_पदयात्रा 23 सितम्बर को शुरू हुयी थी जो चौधरी चरण सिंह की समाधि स्थल किसान घाट जाकर समाप्त हो गयी। उन्होंने आगे बताया की असल में पुलिस ने हमें दिल्ली में घुसने से रोक दिया था। इसलिए प्रदर्शन करना पड़ा। उन्होंने कहा की हमारा लक्ष्य यात्रा को समाप्त करना था जो हमने चौधरी चरण सिंह की समाधि स्थल किसान घाट पहुंच कर किया। अब हम अपने गांव वापस लौट रहे हैं।

गौरलतब है की दिल्ली पुलिस ने यूपी-दिल्ली बार्डर पर किसानों को रोकने के लिए आंसू गैस तथा वाटर कैनन इस्तेमाल कर रही थी। लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के मुलाकात के बाद मंगलवार की रात बैरियर को हटा लिया गया तो जो रैली किसान घाट पहुंच कर समाप्त हुयी।

आपको बतादे की मंगलवार को दिल्ली-यूपी बार्डर पर पुलिस के साथ हुई तीखी झड़प के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह उनसे मिले और बातचीत में ज्यादातर माँगो पर सहमति बनी।

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

Loading...