Lakkha Sidhana absconding accused of Red Fort violence held a farmers rally in Bathinda

0


गणतंत्र दिवस के दिन लाल किले में हुई हिंसा मामले में फरार चल रहे एक आरोपी लक्खा सिधाना ने मंगलवार को पंजाब के बठिंडा में नए कृषि कानूनों के विरोध में आयोजित की गई एक रैली में हिस्सा लिया। दिल्ली पुलिस ने लक्खा सिधाना की गिरफ्तारी पर 1 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है।

गैंगस्टर से सामाजिक कार्यकर्ता बने लखबीर सिंह उर्फ लक्खा सिधाना ने शनिवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर 23 फरवरी को बठिंडा के मेहराज में एक किसान सभा का आयोजन करने के साथ ही बड़ी संख्या में लोगों से इस जनसभा में पहुंचने की अपील की थी।

वीडियो में सिधाना ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार किसानों के खिलाफ झूठे केस दर्ज कर उन्हें डराने की कोशिश कर रही है। सिधाना ने इस वीडियो में उसने अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पर भी हमला बोला था। सिधाना ने कहा था कि किसान आंदोलन पर अब ऐसे लोगों का कब्जा हो गया हो जोकि पंजाबी भी नहीं हैं। उसने कहा है कि किसानों का आंदोलन सात महीने पुराना है और अपने चरम पर पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें : लाल किला हिंसा मामले में कौन-कौन थे शामिल? 200 लोगों की तस्वीरें जारी 

वीडियो में वह कह रहा था कि 23 फरवरी को बड़ी संख्या में लाखों की संख्या में लोग पहुंचने चाहिए। बठिंडा जिले मेहराज पिंड में आओ, उधर ही प्रदर्शन रखा गया है। आओ मेरे भाइयो बड़ी संख्या में कोशिश करें ताकि पता लगे कि हम किसान आंदोलन के साथ हैं।

ये भी पढ़ें : चढ़ूनी के बिगड़े बोल- ‘दिल्ली पुलिस अगर आपको गिरफ्तार करने आए तो उसका घेराव कर बंधक बना लें’

बता दें कि, दिल्ली पुलिस 26 जनवरी को लाल किले पर हुई हिंसा के संबंध में पंजाब के इस गैंगस्टर लक्खा सिधाना की सरगर्मी से तलाश रही है। इस मामले में पुलिस ने सिधाना पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है, लेकिन अभी कामयाबी नहीं मिल पाई है।





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।