लॉकडाउन: 16 मजदूरों ने जान जोखिम में डालकर किया मौत का सफर, दूध के टैंकर में छिपकर आए घर

Coronavirus के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए, देश में लॉकडाउन लागु है। जिसके बाद से लोग अपने घरों में बंद है, लेकिन कुछ लोग दूसरे राज्यों में फंसे हुए, जोकि अब अपनी जान को जोखिम में डालकर सफ़र कर रहे हैं। और पुलिस से छुपकर घर वापसी कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के बिजनौर से सामने आया है, यहां पुलिस प्रशासन के खौफ के कारण खाली दूध के टैंकर में छिपकर 16 मुसाफिरों ने जान जोखिम में डालकर मौत का सफर किया।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर ज़िले के थाना नजीबाबाद के कोटद्वार रोड पर खाली दूध के टैंक के अंदर छिपकर 16 सवारी देहरादून से नजीबाबाद आई, दरअसल, प्रशासन की सख्ती की वजह से सभी निजी व सरकारी गाडियां व ट्रेनें फौरी तौर पर बंद हैं, लेकिन आवश्यक वस्तुओं की गाड़ियों की आवाजाही पर रोक-टोक नहीं है। उसी का फायदा ड्राइवर पैसे के लिए उठा रहे हैं, जिसमें देहरादून से दूध के टैंकर में तकरीबन 16 सवारी को लेकर एक ड्राइवर नजीराबाद पहुंचा।

दूध के टैंक से 16 लोगों के निकलने का वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ है, फिलहाल पुलिस दवारा इस मामले में कोई भी एक्शन नहीं लिया गया है, आपको बता दें कि टैंक में दम घुटने तक की आशंका थी।

लेकिन अगर कोई कोरोना पॉजिटिव होता तो संक्रमण का भी खतरा था। हमारी आप लोगो से अपील है कि संकट की सी घडी में जो जहां हैं, वहीं रहें. स्थानीय प्रशासन खाने-पीने से लेकर सभी अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया करवा रही है। किसी भी तरह से संक्रमण का जोखिम न उठाएं।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …