LOCKDOWN: सामने आई बड़ी रिपोर्ट, मर्द के घरों में रहने से महिलाओं की यूँ बढ़ी परेशानी

अरब क्षेत्र में महिलाओं व लड़कियों को कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच घरेलू हिंसा और सामाजिक चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसके बाद उनकी स्थिति काफी खराब हो गई है, संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की इकोनॉमी एंड सोशल कमीशन फॉर वेस्टर्न एशिया (ईएससीडब्ल्यूए) की एक नई पॉलिसी ब्रिफ में इस बात का खुलासा किया गया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने ईएससीडब्ल्यूए की एग्जीक्यूटिव सेक्रेटरी रोला दशति के सोमवार के बयान के हवाले से बताया, “वर्तमान में जारी लॉकडाउन के बीच विश्व और अरब क्षेत्र में घरेलू हिंसा में वृद्धि हुई है.”

उन्होंने बताया, “ऐसा माना जा रहा है कि लागू लॉकडाउन में जारी क्वारंटाइन, आर्थिक तनाव, खाद्य असुरक्षा और वायरस (कोविड-19) के संपर्क में आने की आशंका के कारण महिलाओं के साथ हिंसा की घटना में तेजी देखने को मिल रही है.”

दशति ने बताया, “हिंसाग्रस्त क्षेत्र में महिला को महामारी के दौरान मदद मांगने में मुश्किल का सामना करना पड़ेगा.”

ईएससीडब्ल्यूए का अपनी रिपोर्ट में कहना कि संकटों के समय में घरों में भोजन और पोषण वितरण हमेशा न्यायसंगत नहीं होता है. महिलाओं और लड़कियों को भोजन की खपत की गुणवत्ता और मात्रा को कम करने को कहा जाता है.

Check Also

शादी करके जिसे पति लाया घर, सुहागरात में वो निकला एक मर्द, सच्चाई जानकर चौंक गए सब

एक चौकाने वाली घटना सामने आई जिसमे सभी के होश उड़ गए। घटना इंडोनेशिया की …