लॉकडाउन ने बिगाड़े हालात, परिवार चलाने के लिए मजबूरी में बेचनी पड़ रही सब्जी, दूध, अंडे, प्रोटीन के पड़े लाले

देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद जिम ट्रेनर भी मुसीबत में पड़ गए हैं। हालत यह हो चुकी है कि इंटरनेशनल फ्रेंचाइजी जिम में कार्यरत ट्रेनर अब सड़क पर सब्जी बेचते नजर आ रहे हैं। वैसे ट्रेनर की महीने में सैलरी 25 हजार होती है लेकिन लॉकडाउन की वजह से जिम महीनो से बंद पड़े हैं। उनको अपना खर्चा चलाना मुश्किल हो रहा है।

ट्रेनर भूपेंद्र नायक का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से परिवार का खर्च चलाना मुश्किल हो चुका है 5 लोगों के बड़े परिवार को चलाने के लिए अब उन्हें सब्जी की दुकान लगानी पड़ रही है बताया की परिवार में तीन छोटे भाई मां और मामा साथ रहते हैं।

वहीं एक अन्य ट्रेनर आलोक सिंह का कहना है कि वह पिछले 5 साल से शहर में फिटनेस ट्रेन का काम कर रहे थे लेकिन लॉकडाउन होने की वजह से उन्हें सैलरी नहीं मिली है जिसकी वजह से अब उनको मकान का किराया देने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

लॉकडाउन की वजह से जिम बंद पड़ी हैं कई ट्रेनरो को बीते 2 महीने से सैलरी नहीं मिली है कुछ ऐसे भी हैं जिनके पास घर का किराए तक देने के पैसे नहीं बचे हैं जिम के सहारे अपनी सेहत बनाने वाले लोगों के सामने भी खुद को फिट रखने का संकट मंडराने लगा है।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …