लॉकडाउन ने छीना रोजगार, भूख व इलाज न मिलने पर एक बेटी की मौत, दूसरी की भी तबियत बिगड़ी, DM ने दिए जाँच के आदेश

कोरोना महामारी को रोकने के लिए किया गया लॉकडाउन अब उन लोगों पर मुसीबत बनकर टूटना शुरू हो गया है जो परिवार हर रोज कमाकर अपना पेट भरता था। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के आगरा से सामने आया है। जहां एक मजदूर की बेटी की भूख तथा इलाज न हो पाने से मौत हो गई।

वही मजदूर की दूसरी बेटी की भी हालत खराब बताई जा रही है इससे आगरा प्रशासन की डोर स्टेप डिलीवरी व जरूरतमंदों को मदद मुहैया कराने की पोल खुल चुकी है। मामला संज्ञान में आने के बाद प्रशासन गुरुवार सुबह जिला पूर्ति अधिकारी व एसओ न्यू आगरा खुद राशन लेकर गरीब परिवार के पास पहुंचे। वही बीमार बेटी का इलाज कराने के लिए खुद जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश दिया है।

मीडिया में छपी खबर के अनुसार, न्यू आगरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कौशलपुर के रहने वाले राम सिंह जूते का फिटर बनाकर परिवार का पेट पाल रहे थे लेकिन 23 मार्च के बाद शुरू हुए लॉकडाउन के बाद उनका रोजगार छीन गया है। परिवार खाने को तरस रहा है।

परिवार में राम सिंह के अलावा पत्नी बबिता, बेटी दीपेश (13 वर्ष), वैष्णवी (11 वर्ष), परी (07 वर्ष) और बेटे भरत (05 वर्ष) है। जब से लॉकडाउन शुरू हुआ है राम सिंह अग्रवन क्वारैंटाइन सेंटर से खाने के पैकेट लाया करते थे। लेकिन कुछ दिन पहले क्वारैंटाइन सेंटर में हंगामा होने के बाद वहां से खाने का पैकेट मिलना बंद हो गया था। उसके बाद राम सिंह को पुलिस चौकी से ही एक टाइम लंच का पैकेट मिल रहा था।

हालत ख़राब होने के बीच राम सिंह की बेटी वैष्णवी की अचानक तबीयत खराब हो गई पैसे के अभाव में इलाज न करा सके। 28 अप्रैल को वैष्णवी की मौत हो गई। यहां तक कि राम सिंह अपनी बेटी के अंतिम संस्कार के लिए भी दूसरों के आगे हाथ फैलाए। लोगों ने मदद की तो रामसिंह यमुना घाट पर बेटी का अंतिम संस्कार कर पाए। उसके बाद उनकी बड़ी बेटी दीपेश की भी अचानक तबीयत खराब हो गई।

बेटी की मौत की खबर सुनकर कुछ निजी संस्थानों ने राशन पहुंचाया और कुछ ने पैसों से मदद की, इस मामले में खुद जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने संज्ञान लेते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए इसके अलावा उन्होंने सीएमओ को आदेश दिया कि बेटी का इलाज करवाएं।

Check Also

Cyclone Nisarga: मुंबई से 150 किलोमीटर दूर है ‘निसर्ग’ चक्रवाती तूफान, 120 KM घण्टे की रफ्तार पकड़ मचा सकता है तबाही

मुंबई: बुधवार 3 जून 2020 को महाराष्ट्र और गुजरात के समुद्री तट से टकराने वाले …