लॉकडाउन: यूपी में फंसे फ्रांस के इस परिवार को भा गया ये गाँव, ठुकरा दिया प्रशासन का भी प्रस्ताव

भारत की यात्रा पर आये फ़्रांस के एक परिवार यूपी के महराजगंज ज़िले का एक गांव इतना भा गया कि, वह वहां के लोग के साथ घुल-मिल गए हैं। लॉकडाउन में फंसे इस परिवार ने प्रशासन दवारा मिले होटल और गेस्ट हाउस में रहने के ऑफर को भी ठुकरा दिया है। फ़्रांस में टॉलोस शहर के रहने वाले पलारेस पैट्रिस अपनी पत्नी वर्जीनी, दो बेटियों और एक बेटे के साथ फ़रवरी से ही भारत घूमने के लिए आए थे।

जोकि 21 मार्च को नेपाल जाने वाले थे, लेकिन उसके अगले दिन जनता कर्फ़्यू लगना था। जिसके बाद ये लोग महराजगंज के अंतर्गत आने वाले लक्ष्मीपुर ब्लॉक के कोल्हुआ गांव में एक मंदिर में रुक गए। लेकिन फिर दो दिन बाद लॉकडाउन का ऐलान हो गया और सभी अंतरराष्ट्रीय सीमाएं सील कर दी गईं, जिसके बाद इन लोगों को यहीं रुकना पड़ा।

परिवार की वरिष्ठ महिला वर्जीनी ने बताया कि, “हम पिछले दस महीने से भारत की यात्रा कर रहे हैं, हमें यात्रा काफी पसंद है और लोगों से मिलना भी अच्छा लगता है। लॉकडाउन के कारण हमें यहां रुकना पड़ा है, क्योंकि हम कहीं और नहीं जा सकते थे। हम नेपाल की सरहद खुलने का इंतज़ार कर रहे हैं.”

वर्जीनी ने कहा कि “ये गांव बहुत अच्छा है, यहां धूप काफी है, लेकिन पेड़ की छांव हमें इससे बचा रही है। मेरे परिवार के साथ यहां के लोगों का व्यवहार काफी अच्छा है। मेरे परिवार के लिए गाँव के एक बुजुर्ग खाना पकाते हैं. गांव के कई लोग हमें दूध, फल-सब्ज़ियां देते हैं, खाना देते हैं. हम अच्छी तरह से रह रहे हैं और बाबा के साथ मिलकर हनुमान जी से प्रार्थना करते हैं कि कोरोना महामारी जल्द ख़त्म हों जाये”

Check Also

शादी करके जिसे पति लाया घर, सुहागरात में वो निकला एक मर्द, सच्चाई जानकर चौंक गए सब

एक चौकाने वाली घटना सामने आई जिसमे सभी के होश उड़ गए। घटना इंडोनेशिया की …