मध्य प्रदेश: कोरोना को हरा कर तो जीत ली इस शख्स ने जंग, लेकिन पड़ोसियों से हारा, भेदभाव के बाद घर पर लिखा, ‘मेरा घर बिकाऊ है’

मध्य प्रदेश: शिवपुरी का निवासी एक व्यक्ति अपने ही पड़ोसियों की बेरुखी से परेशान हो गया है। क्युकी इस व्यक्ति ने कोरोना को तो हरा दिया, लेकिन अपने पड़ोसियों के सामने हारता दिख रहा है। व्यक्ति ने बताया कि, ‘मेरे पड़ोसी दूसरों से कहते हैं कि जिस गली से मेरा परिवार गुजरता है, वहां से मत जाओ। यहां तक कि दूधवाले को भी दूध देने के लिए मना कर दिया गया है। हमें जीने के लिए जरूरी चीजें तो चाहिए हीं, इसलिए हम यहां से घर छोड़ रहे हैं।’

शिवपुरी जिले में कोरोना संक्रमण के बाद ठीक होकर घर लौटा शख्स पड़ोसियों की इस बेरुखी से बहुत आहत है। इस शख्स ने अपने घर के बाहर पोस्टर लगा दिया है, ‘मेरा घर बिकाऊ है…’। ऐसा ये तब देखने को मिला जब कई अन्य लोग कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद लोगों का तालियों और फूलों से स्वागत कर रहे है। लेकिन हाथ की पांचों उंगलिया बराबर नहीं होती है।

शख्स ने बताया कि, वह अपने मनोबल की वजह से कोरोना वायरस से जीतने में सफल रहे, लेकिन अपने पड़ोसियों ने उन्हें हरा दिया। कोरोना के खिलाफ इस संघर्ष में उनका मनोबल जिला प्रशासन, डॉक्टर्स, नर्स, मीडिया ने लगातार फोन करके उनका मनोबल बढ़ाया। मगर अब घर लौटने पर पड़ोसी और नजदीकी उनके साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं।

वयक्ति का कहना है कि, बीमारी किसी को भी हो सकती है लेकिन हमें बुरा बर्ताव नहीं करना चाहिए। उनके पड़ोसी उनके घर न तो सब्जी और न ही दूध वाले को आने दे रहे हैं। यहां तक कि कुछ लोग गाली-गलौज कर उन्हें घर खाली करने के लिए मजबूर कर रहे हैं।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …