Maharashtra: कोरोना का बढ़ रहा कहर, बिना मास्क के घूम रहे लोग- उड़ रही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

0


Maharashtra: कोरोना का बढ़ रहा कहर, बिना मास्क के घूम रहे लोग- उड़ रही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

सोशल डिस्टेंसिंग का नहीं हो रहा पालन (Photo: ANI)

मुंबई: महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले फिर से तेजी से बढ़ रहे हैं. मुंबई में कोरोना वायरस (Coronavirus Case in Mumbai) के बढ़ते मामलों को देखते हुए 1355 इमारतों को सील किया गया है. कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए बीएमसी ने अपनी कार्रवाई और तेज करते हुए कड़े नियम लागू किए हैं, लेकिन बावजूद इसके लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं. इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग की भी जमकर धज्जियां उड़ रही हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र के कई हिस्सों से भीड़-भाड़ की तस्वीरें सामने आ रही हैं.’

सोमवार को मुंबई के क्रॉफर्ड मार्केट में लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को तार-तार करते नजर आए. यहां जबरदस्त भीड़ जुटी और इनमें से अधिकांश लोग बिना मास्क के भी दिखे. पुलिस ने बिना मास्क के घूमने वाले लोगों से 200 रूपये का जुर्माना वसूला और उन्हें मास्क दिए. Curfew in Amravati: एक्शन में उद्धव सरकार, कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आज रात 8 बजे से अमरावती शहर और अचलपुर में कर्फ्यू लागू.

मुंबई में नहीं हो रहा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन 

BMC ने बताया कि इससे पहले 21 फरवरी को 14,100 लोगों को बिना मास्क के पाया गया और उनसे दंड स्वरुप उनसे 28.20 लाख रुपये का जुर्माना वसूला गया. रविवार तक तक कुल 16,02,536 लोगों को दंडित किया गया और उनसे 32,41,14,800 रुपये का जुर्माना वसूला गया. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बावजूद लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं. पुलिस, BMC और खुद सीएम उद्धव ठाकरे लोगों से मास्क पहनने की अपील कर रहे हैं.

सीएम उद्धव ठाकरे ने जनता से मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की है. सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के चलते सोमवार से महाराष्ट्र में राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक समारोहों पर रोक लगाई जाएगी.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सोमवार से राज्य में धार्मिक, सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यक्रमों में लोगों के समूह में एकत्रित होने पर रोक रहेगी. मुख्यमंत्री ने लोगों से “कोविड-19 के नियमों का उचित तरीके से पालन करने” की अपील की और कहा कि वह एक सप्ताह से लेकर 15 दिन तक आकलन करेंगे और फिर अन्य लॉकडाउन के बारे में फैसला करेंगे.





Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।