Mamata vs Centre Updates: कोर्ट ने कहा पुलिस कमिश्‍नर से शिलांग में होगी पूछताछ, तो बीजेपी ने ममता से माँगा इस्तीफा

0
93
photo credit: ANI

पश्चिम बंगाल: चिटफंड घोटाला मामलों में सुप्रीम कोर्ट की तरफ सीबीआई को कोलकाता पुलिस कमिश्नर से पूछताछ की इजाजत मिल गयी है। वही कोर्ट ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के लिए मेघालय की राजधानी शिलांग चिन्हित किया है। अब इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट अगली सुनवाई 20 फरवरी को करेगी। वही बीजेपी ने अदालत के इस फैसले के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से इस्तीफे की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र की जीत हुई है।

वही पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अपने हक़ में बताते हुए कहा, “कोई ये नहीं समझे कि वो देश का बॉस है, हमारे यहां लोकतंत्र है।” उन्होंने ये भी कहा की हमने पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को कभी मना नहीं किया की वो सीबीआई के सामने पेश न हो। साथ धरना जारी रखने के सवाल पर कहा सहयोगी दलों से बातचीत करने के बाद ही फैसला लुंगी।

वही सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई द्वारा दायर याचिकाओं पर मुख्य सचिव, डीजीपी, कोलकाता पुलिस आयुक्त को अपना जवाब दायर कराने की बात कही है। सीबीआई की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में चिटफंड घोटाला मामले में सबूत नष्ट करने का आरोप लगाते हुए वेणुगोपाल ने बहस शुरू की, कहा की कोलकाता पुलिस ने जो कॉल डेटा उपलब्ध कराया था उसमे छेड़छाड़ की गई थी। साथ वेणुगोपाल ने ये भी कहा की चिटफंड घोटाले में पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा गठित एसआईटी की अगुवाई पुलिस आयुक्त राजीव कुमार खुद कर रहे है। जिस पर पुलिस आयुक्त की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा की सीबीआई केवल अपने नंबर बढ़ाने के लिए ऐसा कर रही है।

इस मामले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि “राजीव कुमार का उपलब्‍ध कराना मुश्किल नहीं होगा, लेकिन अवमानना हुई है या नहीं, यह अभी तय नहीं हो सकता। इसके लिए हमें दूसरे पक्ष को नोटिस जारी कर उनकी बात सुननी पड़ेगी।”

गौरतलब है की 3 फ़रवरी को पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटालों के सिलसिले में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ के लिए पहुँची सीबीआई टीम को राजीव कुमार के आवास में वहाँ तैनात कर्मचारियों ने रोकते हुए गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि, बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

जिसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी का धर्मतल्ला के समीप मेट्रो चैनल के पास ‘संविधान बचाओ’ धरने पर बैठ गयी थी। उन्होंने प्रेस वार्ता कर कहा था की, “कोलकाता पुलिस प्रमुख के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई राजनीतिक प्रतिशोध वाली है। प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पश्चिम बंगाल में ‘तख्तापलट’ की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि तृणमूल कांग्रेस ने यहां विपक्ष की रैली का आयोजन किया था। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर सीबीआई को निर्देश दे रहे हैं। कानून-व्यवस्था राज्य का मामला है, हम क्यों आपको (सीबीआई) सब कुछ दे दें। मैं संविधान की रक्षा के लिए आज रात ‘धरने’ पर बैठूंगी और इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन करूंगी।”

Loading...