प्याज के बाद चीनी के दामों में लग सकती है आग, सामने आये चौकाने वाले आकड़े

देश में आसमान छूती प्याज के दामों के बाद अब चीनी भी देश की जनता को झटका देने के लिए तैयार है। क्योंकि अब चीनी के जो आंकड़े सामने आए हैं उसे देखकर यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि जल्द ही चीनी के दामों में बढ़ोतरी होने वाली है। देश में मौजूदा शुगर सीजन के ढाई महीने के दौरान चीनी का उत्पादन 35 प्रतिशत कम हुआ है।

उत्तर प्रदेश राज्य को छोड़ दें तो कर्नाटका और महाराष्ट्र के साथ सभी चीनी उत्पादक प्रदेशों में चीनी का उत्पादन कम रहा है जिसकी वजह से आने वाले दिनों में चीनी के दाम में इजाफा देखने को मिल सकता है। देश में चालू शुगर सीजन 2019 20 (अक्टूबर-सितंबर) के दौरान बीते ढाई महीने में चीनी का उत्पादन लगभग 46 लाख टन हुआ है जो पिछले साल के मुकाबले 35 प्रतिशत कम है।

चीनी उद्योग संगठन इंडियन शुगर मिल्स द्वारा बुधवार को जारी किये गए आंकड़े के मुताबिक चालू सीजन में 15 दिसंबर तक देश भर में 45.81 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ जो पिछले सीजन में इस समय के दौरान देशभर में 70.54 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ था। उत्तर प्रदेश में 15 दिसंबर 2019 तक चीनी का उत्पादन 21.25 लाख टन रहा जो पिछले साल के इस समय के मुकाबले 2.31 लाख टन अधिक रहा।

महाराष्ट्र में 15 दिसंबर तक केवल 7.66 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ। जो पिछले साल इस समय तक 29 लाख टन हुआ था। चीनी उत्पादक प्रदेश में तीसरा स्थान रखने वाला कर्नाटक चालू सीजन के दौरान ढाई महीने में 10.62 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ। जो पिछले साल के इस समय के आंकड़ों से 3.32 लाख टन कम है।

यह भी कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र और कर्नाटक में चीनी मिलों में गन्ने की पिराई 1 महीने की देरी से शुरू होने की वजह से चीनी का उत्पादन पिछले साल से कम हुआ है। वहीं बाकी प्रदेशों में मौजूदा चालू सीजन में 15 दिसंबर तक चीनी का उत्पादन कम रहा गुजरात में चीनी का उत्पादन 1.52 लाख टन रहा। जबकि आंध्र प्रदेश में 0.30 लाख टन तक सीमित रहा। वहीं तमिलनाडु में 0.73 लाख टन चीनी का उत्पादन हुआ। बिहार में चीनी का उत्पादन 0.35 लाख टन रहा। हरियाणा, पंजाब और मध्य प्रदेश में चीनी का उत्पादन कुछ इस प्रकार रहा 0.65 लाख टन, 0.75 लाख टन और 0.35 लाख टन।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …