एमबीबीएस डॉक्टर कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने लिया कोरोना मरीजों का इलाज करने का फैसला, लेकिन डॉक्टर संबित पात्रा ने खुद को घर में बंद किया

कोरोना वायरस बढ़ते खतरे को लेकर बीजेपी प्रवक्ता एवं क्वालिफाइड डॉक्टर संबित पात्रा ने खुद को घर में कैद कर लिया है, वहीं झारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने घर से बाहर निकलकर बतौर डॉक्टर कोरोना पीड़ित लोगों का इलाज करने का फैसला लिया है।

विधायक इरफान अंसारी ने इस संबंध में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र भी लिखा है कि, उन्हें बतौर डॉक्टर मरीजों की सेवा करने दी जाए। उन्होंने लिखा कि वह एक जनप्रतिनिधि होने के साथ-साथ एमबीबीएस-एमडी डॉक्टर भी हैं। ऐसे समय में जब पूरा देश करोनावायरस की चपेट में है, तो उनका कर्तव्य बनता है कि वह आगे आएं और एक डॉक्टर होने का फर्ज निभाएं।

कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने आगे लिखा, ‘लोगों को कोरोना से बचा सकूं और उनका इलाज करूं। राज्य सरकार से आग्रह है कि वह मेरा इस्तेमाल कहीं भी कर सकती है।’ इरफान अंसारी के इस फैसले की तुलना संबित पात्रा के हाल ही के उस बयान से की का रही है जो उन्होंने पीएम मोदी द्वारा किए गए लॉकडॉउन का समर्थन करते हुए दिया था। दरअसल पात्रा ने पीएम मोदी के लोकडाउन का समर्थन करते कहा था कि अब घर से बाहर नहीं जाएंगे।

इंटरनेट पर संबित पात्रा के इस बयान की काफ़ी आलोचना भी हुई थी। यूजर्स का कहना था ऐसे वक़्त में जब देश को ज़्यादा डॉक्टर्स की जरूरत है, तब पात्रा अपनी ज़िम्मेदारी से भाग कर घर पर बैठ गए हैं।

Check Also

हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा के लिए ओवैसी ने मोदी-ट्रंप की दोस्ती पर उठा दी ऊँगली, कह दी ऐसी बात !

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा भारत को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन दवाओं के लिए धमकी देने …