मेरठ अस्पताल ने अखबार में दिया विज्ञापन, बिना कोरोना जांच के न आये मुस्लिम, अस्पताल पर केस दर्ज

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में स्थित वैलेन्टिस कैंसर अस्पताल ने 17 अप्रैल को कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर एक विज्ञापन छपवाया था। जिसमें खासकर मुस्लिम समुदाय पर आरोप लगाते हुए कहा गया था कि अगर कोई मुस्लिम अस्पताल आना चाहता है तो उसे अपना और एक अटेंडेंस का कोरोना जाँच कराकर रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही अस्पताल आए।

विज्ञापन को लेकर मामला तूल पकड़ता देख पुलिस ने अस्पताल के संचालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। अस्पताल द्वारा अखबार में छपे विज्ञापन में कोरोनावायरस महामारी को लेकर मुस्लिम समुदाय को जिम्मेदार ठहराया गया था। वही विज्ञापन में हिंदू और जैन समुदाय के अधिकतर लोगों को ‘कंजूस’ बताया गया था।

इस मामले में मेरठ के इंचौली थाना के प्रभारी ब्रजेश कुमार सिंह ने रविवार को जानकारी देते हुए कहा कि घटना के संबंध में वैलेन्टिस अस्पताल के संचालक अमित जैन के खिलाफ मामला दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। मेरठ के चीफ चिकित्सा अधिकारी डॉ. राज कुमार ने जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि यह गलत है और हम इस मामले में वैलंटिस कैंसर अस्पताल प्रशासन को नोटिस भेज रहे हैं। जवाब मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी

वही अस्पताल ने बढ़ते विवाद को देखते हुए संबंधित अस्पताल में फिर से अखबार में विज्ञापन देकर माफी माँग ली हैं। विज्ञापन में लिखा कि अगर किसी की भावना को थोड़ी भी ठेस पहुंची है तो हम माफी चाहते हैं।

अखबार में छपे अस्पताल की तरफ से माफीनामा में लिखा हुआ है कि हमारे इस कोरोनावायरस जैसी वैश्विक आपदा में सभी धर्मों हिंदू, सिख, मुस्लिम, जैन, इसाई के लोगों के साथ मिलजुल कर लड़ने का आग्रह करने की कोशिश है किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की हमारी कहीं भी कोशिश नहीं रही है अगर किसी भी धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो हम दिल से माफी मांगते हैं।

17 अप्रैल को अस्पताल के विज्ञापन में कोरोना वायरस फैलने के लिए तबलीगी जमात को जिम्मेदार ठहराया था। इसके अलावा अस्पताल में मुसलमानों को भर्ती करने पर भी दिशा निर्देश जारी किया था। इसके अलावा विज्ञापन में हिंदू और जैन को कंजूस बताया गया था विज्ञापन में लिखा था। ‘हम हिंदू-जैन परिवारों जिसमें अधिकांश कंजूस है से भी आग्रह करते हैं कि वह भी पीएम केयर्स फंड में सहयोग दें।’

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …