#METOO उत्पीड़न कांड : महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने प्रदेश संगठन को ठहराया जिम्मेदार

0
43

महिला के आरोपों से भाजपा में भूचाल के बीच पार्टी के महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने रविवार को अपनी सफाई दी। कहा कि उन्होंने पूरा मामला सितंबर में ही प्रदेश संगठन को बता दिया था। उन्होंने स्वीकार किया कि आरोप लगाने वाली महिला से उनकी एक नहीं कई बार बातचीत हुई, लेकिन बातचीत के जो अंश पेश किए जा रहे हैं, उन्हें तोड़मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। बीते दिन भाजपा महानगर अध्यक्ष विनय गोयल मीडिया को साफ तौर पर कह रहे थे कि मीडिया कुछ भी छापने के लिए स्वतंत्र हैं। इधर, महिला के आरोपों के बाद प्रदेश संगठन महामंत्री संजय कुमार पर हुई कार्रवाई के बाद महानगर अध्यक्ष विनय गोयल सफाई देने की स्थिति में आए। उन्होंने हिन्दुस्तान से फोन पर बातचीत में अपनी स्थिति स्पष्ट की और कहा कि वह सितंबर की शुरुआत में भी पूरे प्रकरण को प्रदेश संगठन के सामने रख चुके थे। कहा कि आरोप लगाने वाली महिला से उनकी एक बार नहीं कई बार बातचीत हुई और कई-कई घंटे बात हुई। महिला इसलिए बार-बार उनसे बात करती थी क्योंकि महिला के आरोपों को वह उचित फोरम पर रख रहे थे और आरोप लगाने वाली महिला मेरी ओर से उठाए जा रहे कदमों से संतुष्ट भी थी। क्योंकि इस मामले में मेरी जो भूमिका, क्षमताएं और योग्यता थी, उसका सही समय पर उचित स्थान पर उचित ढंग से पहुंचाया। अगस्त में मैं विदेश में था और वहां से लौटने के बाद महिला ने पहली बार मुझे यह प्रकरण बताया था और उसी वक्त इसे प्रदेश संगठन को बता दिया था।

महानगर अध्यक्ष गोयल पर गिर सकती है गाज!
महिला के आरोपों से भाजपा में उठे सियासी बवंडर के बीच महानगर भाजपा में बड़ा बदलाव हो सकता है। इसकी चर्चाएं दिनभर राजनैतिक गलियारों में रहीं। शाम को चर्चाओं ने और जोर पकड़ा। यहां तक बात चली कि महानगर अध्यक्ष पद से गोयल की छुट्टी तय है। हालांकि भाजपा हाईकमान की ओर से ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया गया। भाजपा महानगर कार्यालय में रविवार को चुनावी चर्चा की जगह सुबह से ही आरोपों के बाद से पार्टी की स्थिति पर पड़ने वाले प्रभाव पर चर्चा होती रही। पार्टी के ही नेता और कार्यकर्ता महानगर कार्यालय में इस बात की चर्चा करते दिखे कि अभी बोतल का ढक्कन खुला है, देखो आगे क्या-क्या आता है। इन चर्चाओं के बीच यह बात भी सामने आने लगी कि प्रदेश महामंत्री संगठन पर जो कार्रवाई होनी थी, हो गई।

अब महानगर अध्यक्ष विनय गोयल की महिला के साथ जो बातचीत सामने आई है, वह गंभीर है। इसी को आधार बनाकर उनपर गाज गिरने की बातें होती रहीं। यहां तक कि नए अध्यक्ष के नाम पर भी चर्चाएं होने लगीं। शाम को एक और बात चली कि इसे लेकर प्रदेश कार्यालय में बैठक हो रही है, जिसमें महानगर से जुड़े बड़े नेता भी शामिल हुए। पार्टी की तरफ से ऐसी किसी बैठक से इनकार किया जा रहा है, लेकिन चर्चा है कि सोमवार सुबह फिर से बैठक बुलाई गई है और इस बैठक में महानगर भाजपा को लेकर बड़ा निर्णय लिया जा सकता है। इधर, विनय गोयल इस पूरे मामले में दूसरे दिन भी मीडिया से दूर रहे। शनिवार को उन्होंने फोन पर जहां मीडिया को यह कह दिया था कि वह कुछ भी छापने के लिए स्वतंत्र हैं, तो दूसरे दिन चुनावी दौर में महानगर कार्यालय से गैरमौजूदगी चर्चा बनी रही। हालांकि गोयल ने वैश्य अग्रवाल समाज के कार्यक्रम में होने का हवाला दिया। इधर, प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि ये सिर्फ अफवाह है और विरोधी ऐसी बातों को हवा दे रहे हैं। पार्टी ने कोई ऐसा फैसला नहीं लिया है।

मैने उचित समय पर यह मामला प्रदेश संगठन तक पहुंचा दिया था। पीड़ित महिला से हुई मेरी बातचीत को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। तंदूर कांड करने वाले दल के लोगों को इस मामले में बात करने का कोई अधिकार नहीं है।
विनय गोयल, अध्यक्ष भाजपा महानगर

महानगर अध्यक्ष विनय गोयल कह रहे हैं तो उन्होंने संगठन को यह जानकारी दी होगी, लेकिन मुझे व्यक्तिगत इसकी कोई सूचना नहीं दी। यह पार्टी का आंतरिक मामला है, जिसका हाईकमान परीक्षण कर रहा होगा।
अजय भट्ट, प्रदेश अध्यक्ष, भाजपा
साभार- Sagar PaRvez

ताज़ा अपडेट पाने के लिए आप इस लिंक को क्लिक करके हमारे फेसबुक पेज को लाइक कर सकते है

loading...