आर्टिकल 370 का समर्थन के लिए, लगे आरोप हटाकर नायक को भारत बुलाना चाहते थे मोदी और अमित शाह

इस्लामी स्कॉलर डॉक्टर जाकिर नायक भारत से फरार हैं, और मलेशिया में पनाह ली हुई हैं। भारत में उनकी संस्था पर पाबंदी लगा दी गई है। लेकिन अब जाकिर नायक दवारा दिए गए एक बयान ने सनसनी फैला दी है, क्योंकि उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर भयंकर आरोप लगाया है। जाकिर नायक के आरोप के बाद कांग्रेस के दो नेताओं ने भी बीजेपी पर हमला बोला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगते हुए कहा कि जाकिर नाइक ने सितंबर 2019 में बयान दिया था कि मोदी जी और अमित शाह जी ने उनके पास अपना दूत भेजा था। डॉक्टर जाकिर नायक ने कहा कि उन्हें भरोसा दिया गया था कि अगर वह आर्टिकल 370 हटाने का समर्थन करता है तो उनके खिलाफ लगे सारे आरोप वापस ले लिए जाएंगे और उन्हें भारत लौटने का मौका दिया जाएगा। इसपर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी जी और शाह जी ने इस बयान की निंदा क्यों नहीं की?

दिग्विजय सिंह ने इसपर एक ट्वीट में लिखा कि जो उन से असहमत है, उसे मनाओ, नहीं मानता है तो उसे धमकी दो. फिर भी नहीं मानता है उसे पद या पैसे की लालच दो. फिर भी नहीं मानता है तो उस पर झूठे आरोप लगा कर बदनाम करो. मान जाता है तो सारे आरोप खारिज और नहीं मानता है तो उस पर राष्ट्रद्रोही होने का आरोप लगाओ और खूब प्रचारित करो. दिग्विजय सिंह ने कहा, यदि ऐसा मौक़ा आता है जब उसका उपयोग किया जा सकता है तो वे वही करते हैं जिसका उल्लेख ज़ाकिर नाइक ने किया है। अपने अगले ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने लिखा कि माननीय प्रधानमंत्री जी और गृह मंत्री जी को ज़ाकिर नाइक के आरोप का विधिवत खंडन करना चाहिए. अगर नहीं करते हैं तो यही माना जायेगा कि ‘देशद्रोही’ ज़ाकिर नाइक का आरोप सही है।

डॉक्टर जाकिर नायक के आरोपों को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ लगातार दिग्विजय के हमले पर बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि मैं मोदी और शाह की टीम का आदमी हूं. लेकिन मुझे नाइक के संबंधित दावे की कोई जानकारी नहीं है. दिग्विजय जबरन अफवाह फैलाकर देश का वातावरण प्रदूषित कर रहे हैं। नागरिकता कानून को लेकर सरकार पर हमला करते हुए दिग्विजय सिंह ने बुधवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने माता-पिता का जन्म प्रमाणपत्र दिखा देते हैं, तो देशवासी सरकार को अपने बारे में सारे दस्तावेज मुहैया कराने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हम तो कहते हैं कि मोदी अपने पिता और माता का जन्म प्रमाणपत्र हमें बता दें, इसके बाद हम सब कागज दे देंगे।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …