देश के सभी CM से 27 अप्रैल को चर्चा करेंगे मोदी, कहा, स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों से उलझने वालों को 5 साल की सजा, 3 लाख का जुर्माना

कोरोना संक्रमण से जंग के खिलाफ पहली लाइन में खड़े स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों पर हो रहे हमलों के चलते, केंद्र सरकार ने बुधवार को बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय कैबिनेट में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की सुरक्षा के लिए महामारी रोग (संशोधन) 2020 अध्‍यादेश लाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। जिसको लेकर पीएम मोदी 27 अप्रैल को देश के सभी मुख्‍यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत करेंगे।

पीएम मोदी दवारा बुधवार को हुए ट्वीट में लिखा गया है कि, ‘महामारी रोग (संशोधन) अध्‍यादेश 2020 उन स्‍वास्‍थ्‍य सेवा से जुड़े प्रत्‍येक कर्मी की सुरक्षा के प्रति हमारी प्रतिबद्धता जाहिर करता है, जो कोविड 19 के खिलाफ अग्रणी रूप से जंग लड़ रहे हैं. यह हमारे प्रोफेशनल्‍स की सुरक्षा सुनिश्चित करता है. उनकी सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा.’

27 अप्रैल को मुख्‍यमंत्रियों के साथ होने वाली वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग में कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन पर चर्चा की जाएगी। मौजूदा वक़्त में पीएम मोदी ने 3 मई तक देश में लॉकडाउन घोषित किया हुआ है।

कोरोना से जंग के खिलाफ लड़ाई में शामिल स्वास्थ्यकर्मियों पर हमलों की पृष्ठभूमि में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को एक अध्यादेश को मंजूरी दी जिसमें उनके खिलाफ हिंसा को संज्ञेय और गैर जमानती अपराध बनाया गया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर दवारा यह जानकरी दी गई है, उन्होंने कहा कि प्रस्तावित अध्यादेश में स्वास्थ्य कर्मियों के घायल होने, संपत्ति को नुकसान होने पर मुआवजे का भी प्रावधान किया गया है.

जावड़ेकर ने बताया कि प्रस्तावित अध्यादेश के माध्यम से महामारी अधिनियम 1897 में संशोधन किया जाएगा. इससे स्वास्थ्य सेवा से जुड़े कर्मियों की सुरक्षा तथा उनके रहने एवं काम करने की जगह को हिंसा से बचाने में मदद मिलेगी. जावडेकर ने संवाददाताओं से कहा कि अध्यादेश को महामारी अधिनियम 1897 में संशोधन के लिए मंजूरी दी गई है.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वालों के लिए सख्‍त सजा और जुर्माना भी लगाया जाएगा. आरोपियों को तीन महीने से लेकर 5 साल की सजा, 50 हजार से लेकर 3 लाख तक का जुर्माना हो सकता है.

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …