निर्भया के दोषियों के फांसी के दिन करीब, जेल प्रशासन ने दोषियों से पूछा, आखिरी बार परिवार से कब मिलना चाहोगे

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा 3 मार्च को निर्भया के दोषियों के लिए डेथ वारंट जारी हो चुका है। तारीख नज़दीक होने की वजह से तिहाड़ जेल प्रशासन फांसी से पहले सारी प्रक्रिया को पूरा करने में जुट गया है। जेल प्रशासन ने निर्भया के दोषियों के परिवार वालों को लेटर लिखकर उन्हें आखरी मुलाकात की तारीख बताने के लिए कहा है।

जेल के नियम के अनुसार फांसी देने के 14 दिन पहले दोषियों से परिवार को मिलने के लिए चिट्ठी लिखी जाती है। जेल के अधिकारियों का कहना है कि निर्भया के दोषी मुकेश और पवन पिछले महीने परिवार से मिल चुके हैं अब अक्षय और विनय से अंतिम बार अपने परिवार वालों से कब मिलेंगे पूछा गया है।

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा निर्भया के दोषियों को तीसरी बार डेथ वारंट जारी किया है जारी नए डेथ वारंट के अनुसार निर्भया के चारों दोषियों को 3 मार्च की सुबह 6:00 बजे तिहाड़ जेल में फांसी दी जाएगी। इससे पहले दो बार डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया के दोषि कानूनी दांव-पेच के चलते बच गए थे।

मीडिया से बात करते हुए निर्भया की मां ने कहा था, “मैं बहुत खुश नहीं हूँ क्योंकि यह तीसरी बार मौत का वारंट जारी किया गया है। हमने बहुत संघर्ष किया है, इसलिए मैं संतुष्ट हूं कि आखिरकार डेथ वारंट जारी किया गया है। मुझे उम्मीद है कि उन्हें (दोषियों को) 3 मार्च को फांसी दी जाएगी।”

गौरतलब है की 16 दिसंबर 2012 को 6 आरोपियों ने मिलकर 23 साल की लड़की के साथ चलती बस में गैंगरेप किया था और उसे बुरी तरह पीटा भी था। इस घटना ने पुरे देश को हिलाकर रख दिया था। कुछ दिन बाद ही लड़की की मौत हो गयी थी। सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। जिसमे से एक आरोपी नाबालिग था, इसलिए उसे किशोर अदालत के सामने पेश किया गया था। वही अन्य 5 आरोपियों में से आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

Check Also

मौलाना अरशद मदनी ने कहा, देशभर में फैले कोरोना वायरस के लिए, तब्लीगी जमात के मरकज को बदनाम करना दुखद

एशिया के सबसे बड़े इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम के मौलाना और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के …