नई तकनीक हुई विकसित, पोस्टमार्टम में अब नहीं होगी चीरफाड़: पड़े ख़बर

पोस्टमार्टम दवारा शरीर की चीरफाड़ से बचने के लिए नई तकनीक खोज ली गई है। राज्यसभा में इस बात की जानकरी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्धन ने दी। उन्होंने अपनी जानकरी में बताया कि नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने मिलकर शव परीक्षण के लिए एक ऐसी तकनीक तैयार की है जिसमें पार्थिव शरीर की चीर फाड़ करने की जरुरत खत्म हो जाएगी।

बताया कि छह माह में एम्स में इस तकनीक से शव परीक्षण शुरू हो जाएंगे। इस तकनीक से तमाम सूचनाओं और जानकारियों को डिजिटल रूप में रखा जाएगा। इससे फिर कभी जरूरत पडऩे पर इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा। सबसे पहले यह तकनीक नई दिल्ली के एम्स में लागू की जाएगी और फिर देश के अन्य अस्पतालों को भी उपलब्ध करायी जाएगी। डा. हर्षवर्धन ने कहा कि इसके लिए एम्स डाक्टरों और कर्मियों को प्रशिक्षण भी देगा। उन्होंने बताया कि नई तकनीक में मानवीय दृष्टिकोण को ध्यान में रखा गया है। दक्षिण एशिया में इस तकनीक का इस्तेमाल करने वाला पहला देश है। यह तकनीक जर्मनी, नार्वे, इजरायल, स्वीडन, ब्रिटेन और हांगकांग में इस्तेमाल की जा रही है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …