Night curfew imposed in Delhi as people were organising parties and gatherings says Health Minister Satyendar Jain

0


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बुधवार को कहा कि राजधानी में नाइट कर्फ्यू इसलिए लगाया गया क्योंकि ऐसी खबरें सामने आ रही थीं कि जब कोरोना के मामले तेज गति से बढ़ रहे हैं ऐसे में शहर के विभिन्न हिस्सों में पार्टियों और समारोहों का आयोजन किया जा रहा है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए जैन ने यह भी आशंका जताई कि अगर संक्रमण दर में वृद्धि हुई और लोगों द्वारा कोविड दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया, तो नए मामले पिछले साल नवंबर में सामने आए कोरोना के मामलों के रिकॉर्ड भी तोड़ सकते हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि अभी इस पर अटकलें लगाना जल्दबाजी होगी और सरकार का प्रयास है कि संक्रमण को यथासंभव प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जाए।

महामारी की स्थिति पर जैन की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब एक दिन पहले दिल्ली सरकार ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया है, जो 30 अप्रैल तक जारी रहेगा।

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, राजधानी में मंगलवार को कोरोना के 5,100 नए मामले सामने आए, जबकि 17 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 11,113 हो गई। सोमवार को एक लाख से अधिक जांच की गई और मंगलवार को संक्रमण दर 4.93 प्रतिशत रही।

नाइट कर्फ्यू कठोर कदम नहीं

जैन ने कहा कि हमने शहर में नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया, क्योंकि शहर के विभिन्न हिस्सों में पार्टियों और सभाओं के आयोजन के बारे में खबरें आ रही थीं। अभी की स्थिति को देखते हुए एक व्यक्ति एक सभा में सभी में संक्रमण फैला सकता है, इसलिए हमने यह कदम उठाया। उन्होंने कहा कि यह कठोर कदम नहीं है और कई श्रेणियों में छूट दी गई हैं, शहर में रेस्तरां आम तौर पर रात 11 बजे तक चलते हैं, इसलिए जनता की सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें केवल एक घंटा पहले बंद करना होगा।

मामलों पर अंकुश लगाने में नाइट कर्फ्यू की प्रभावकारिता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इंतजार करते हैं और आगे देखते हैं। लोगों द्वारा ई-पास हासिल करने संबंधी समस्याओं के मुद्दों पर मंत्री ने कहा कि यह एक शुरुआती समस्या है और इसे जल्द ही दूर कर दिया जाएगा।

स्थिति पर सरकार की पैनी नजर

राजधानी में कोविड-19 मामलों में भारी वृद्धि के बीच जैन ने मंगलवार को कहा था कि दिल्ली सरकार महामारी की स्थिति को लेकर सतर्क है और इस पर पैनी नजर बनाए हुए है। उन्होंने अपनी इस मांग को फिर से दोहराया कि टीकाकरण सभी वयस्कों के लिए शुरू होना चाहिए। 29 अप्रैल को दिल्ली में होने वाले आईपीएल मैच के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा ति मामले को संज्ञान में लिया गया है। शहर में बढ़ते मामलों के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों में विभिन्न अस्पतालों में लगभग 2,000 बेड्स को बढ़ाया गया है और अगले कुछ दिनों में 2000-2500 और बेड्स की व्यवस्था की जाएगी। 

ये भी पढ़ें : नाइट कर्फ्यू के कारण दिल्ली में नहीं होगा IPL मैच? जैन ने कही ये बात



Note- यह आर्टिकल RSS फीड के माध्यम से लिया गया है। इसमें हमारे द्वारा कोई बदलाव नहीं किया गया है।