‘निर्भया गैंगरेप: फांसी के दिन करीब, तिहाड़ जेल पहुँचा पवन जल्लाद, दरिंदों के डमी का ट्रायल शुरू’

नई दिल्ली: निर्भया के चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने का दिन बिल्कुल करीब है। अदालत द्वारा जारी किए गए डेथ वारंट के अनुसार चारों दोषियों को 20 मार्च की सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर फांसी दी जानी है। शासन की मांग के बाद मंगलवार शाम दोषियों को फांसी देने के लिए पवन जल्लाद को तिहाड़ जेल बुला लिया गया है।

फिलहाल चारों दोषी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। वही फांसी की तैयारियों को लेकर 18 मार्च और 19 मार्च दो दिनों तक डमी का ट्रायल किया जाएगा। गौरतलब है कि इससे पहले तीन बार निर्भया के दोषियों की फांसी के लिए डेथ वारंट जारी हो चुका है लेकिन हर बार कानूनी दांवपेच के चलते फांसी टल चुकी है।

हालांकि इस बार भी निर्भया के दोषियों ने फांसी से बचने के लिए अदालत का सहारा लिया है। निर्भया के चारों दोषियों मुकेश, पवन, विनय और अक्षय को फांसी देने के लिए बक्सर जेल से फांसी का फंदा तैयार करवाया गया है। फांसी के फंदे को नरम रखने के लिए केले का लेप का इस्तेमाल किया जाता है।

बता दे की फांसी का फंदा बनाने में बक्सर जेल का काफी नाम है यहां फंदे को खास तरीके से बनाया जाता है जो बेहद मजबूत होते हैं। वहीं 20 मार्च को फांसी को टालने के लिए दोषी अक्षय की पत्नी ने औरंगाबाद परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश रामलाल शर्मा के न्यायालय में तलाक की अर्जी दाखिल की है। उसका दावा है कि वह अपने पति के बिना नहीं जीना चाहती है।

भारतीय दंड संहिता कानून के अनुसार अगर किसी महिला का पति दुष्कर्म या गैंगरेप मामले में कोर्ट द्वारा गुनाहगार साबित किया जाता है। तो वह पति से तलाक के लिए अर्जी दाखिल कर सकती है। इसी कानून के तहत दोषी अक्षय की पत्नी ने भी तलाक की याचिका दायर की है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …