इस लेडी सिंघम से नहीं लेता कोई पंगा, बीजेपी नेता की बीच सड़क पर करी थी हालत पंचर

बीजेपी नेता की गाड़ी का चालान कर चर्चा में आई यूपी के कानपुर की निवासी पीसीएस श्रेष्ठा अब लेडी सिंघम के नाम से जानी जाती है। बतादे श्रेष्ठा ठाकुर के बुलंदशहर में डीएसपी पद पर रहने के दौरान बीजेपी के विधायक ने ट्रैफिक नियम तोड़ा था जिसके चलते श्रेष्ठा ठाकुर ने उनका चालान कर दिया था।

जिसको लेकर विधायक मुकेश भारद्वाज से सड़क पर श्रेष्ठा ठाकुर की तीखी बहस हुई थी। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होने के बाद श्रेष्ठा ठाकुर को बुलंदशहर से ट्रांसफर कर बहराइच भेज दिया गया था।

श्रेष्ठा ठाकुर के साथ भी हो चुकी है छेड़छाड़, पुलिस अफसर बनने के पीछे की वजह बताते हुए कहा कि जब वह ग्रेजुएशन कर रही थी तो उनके साथ भी दो बार मनचलों ने छेड़छाड़ की थी।

जिसके बाद उन्हें लगा कि उस समय जिस तरीके से मनचलों पर कार्रवाई होनी चाहिए थी वह पुलिस ने नहीं की। उसके बाद उन्होंने पुलिस अफसर बनने की ठानी। जहां एक तरफ लेडी सिंघम का टैग लिए सड़कों पर दबंग की तरह घूमती है वही श्रेष्ठा ठाकुर अंदर से बहुत नरम दिल भी हैं।

श्रेष्ठा ठाकुर ने बताया कि कालेज के दिनों में जब वह 9 से 10 साल के एक लड़के को भीख मांगते हुए देखा था तो उस समय उन्होंने अपने टिफिन का सारा खाना उस बच्चे को दे दिया था। उन्होंने बताया तभी से मैं लाचार, जरूरतमंद बच्चों की काफी सहायता करती हूँ।

Check Also

दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए चारो जनपद में चल रहा चेकिंग अभियान, SSP गोरखपुर खुद सड़क पर उतरे

उत्तर प्रदेश: पुलिस कर्मियों का हत्यारा अभी भी फरार, दुर्दांत अपराधी विकास दुबे अभी भी …