अब कही नहीं होंगे गरीबों के फ्री इलाज, मोदी सरकार बेचने जा रही है सभी सरकारी अस्पताल

देश हालत दिन बा दिन ख़राब होते दिखाई दे रहे हैं। मोदी सरकार भारतीय रेलवे के कुछ हिस्सों, एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम को बेचने के बाद ज़िला सरकारी अस्पतालों को भी निजी हाथों में सौंपने की तैयारी में लग गई है। केंद्र सरकार की प्रमुख थिंक टैंक नीति आयोग ने PPP मॉडल के तहत निजी मेडिकल कॉलेज से जिला अस्पतालों को जोड़ने की योजना’ को लेकर 250 पन्नों का दस्तावेज जारी किए है। मिली जानकरी अनुसार अगर मोदी सरकार की ये योजना लागू हुई तो निजी व्यक्ति या संस्थान मेडिकल कॉलेज की स्थापना और उसे चलाने के लिए भी हक़दार होंगे। साथ ही मेडिकल कॉलेजों से सेकेंडरी हेल्थकेयर सेंटर को जोड़ा जा सकेगा और ये सेंटर भी निजी हाथों से दिए जाएंगे।

इन सभी योजनाओ को लेकर नीति आयोग ने जो दस्तावेज जारी किए हैं, इन सभी दस्तावेज में इन योजना में दिलचस्पी रखने वाले लोगों से प्रतिक्रिया मांगी गई है। बताया गया है कि, जनवरी के लास्ट तक इस योजना में हिस्सा लेने वालों की एक बैठक की जाएगी। योजना में बबताया गया है कि, जिला अस्पतालों में कम से कम 750 बेड होने चाहिए। इसमें लगभग आधे “मार्केट बेड” और बाकी “रेग्यूलेटेड बेड” के रूप में होंगे। मार्केट बेड की कीमत बाजार के आधार पर तय की जाएगी। लेकिन रेग्यूलेटेड बेड पर छूट दी जाएगी।

इस योजना को लागु करने की वजह यह बताई जा रही है कि केंद्र और राज्य की सरकार अपने सीमित संसाधन और सीमित खर्च की वजह से चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में अंतर को खत्म नहीं कर पाएंगे। ऐसे में स्वास्थ्य सुविधाओं को अच्छा बनाने और चिकित्सा क्षेत्र में पढ़ाई की लागत को तर्कसंगत बनाने के लिए यह योजना लागु की जाएगी। लेकिन जेएसए और एसोसिएशन ऑफ डॉक्टर्स फॉर एथिकल हेल्थकेयर इस योजना के विरोध में है। इन्होने इस योजना के खिलाफ केंद्र सरकार को पत्र लिखने का भी फैसला किया है।

इस योजना को लेकर जन स्वास्थ्य अभियान के नेशनल को-कनवेनर डॉ अभय शुक्ला ने न्यू इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “इस नीति को लागू करने के बाद स्वास्थ्य सेवा और उसकी गुणवत्ता से समझौता करना पड़ेगा। इसका सबसे ज्यादा असर गरीबों पर पड़ेगा। हमारी सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा में निवेश की जरुरत है। किसी का यह कहना कि हमारे पास संसाधन की कमी हैं, यह एक हास्यास्पद तर्क है क्योंकि हमारा स्वास्थ्य सेवा खर्च दुनिया में सबसे कम है।”

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …