अब आसानी से करा सकते हैं महिलाओं का गर्भपात, मोदी दवारा मिली मंजूरी

मोदी कैबिनेट दवारा मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी बिल, 2020 को मंजूरी दे दी गई है। इस बिल की मंजूरी के साथ ही मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी एक्ट, 1971 में संशोधन का रास्ता साफ हो चूका है। अब मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी बिल संसद के आगामी सत्र में पेश होगा। इस बिल के अनुसार महिलाएं 24वें हफ्ते में भी गर्भपात करा पाएगी।

बीते साल गर्भपात कराने की अवधि बढ़ाने को लेकर कोर्ट में याचिका दायर हुई थी। जिसकी सुनवाई के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिछले साल अगस्त में दिल्ली हाई कोर्ट को बताया कि गर्भवती महिला के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उसके गर्भपात की समयसीमा 20 सप्ताह से बढ़ाकर 24 से 26 हफ्ते करने को लेकर मंत्रालय ने विचार-विमर्श शुरू कर दिया है.

सरकार दवारा दाखिल हलफनामे में बताया गया कि, संबंधित मंत्रालय और नीति आयोग की राय लेने के बाद गर्भपात संबंधी कानून में संशोधन के मसौदे को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। फिर उसे कानून मंत्रालय के पास भेजा जाएगा ताकि गर्भपात संबंधी कानून पर जरूरी संशोधन किया जा सके।

Check Also

अनलॉक 2: क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद, यहाँ जाने खुलकर

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने अनलॉक-2 के लिए नई गाइडलाइन्स जारी कर दी है। जिसमे …