omg: एक कोरोना मरीज के इलाज में इतना पैसा खर्च करती है सरकार, जानकर उड़ जायेगे होश, कहोगे देशबंदी सही है

देश में लहभग 80 फीसदी कोरोना मरीजों का इलाज सरकारी अस्‍पतालों में हो रहा है, कई निजी अस्‍पतालों में भी कोरोना के इलाज की सुविधा है लेकिन जो उसके खर्च को वहन कर सकता है या स्‍वास्‍थ्‍य विभाग जिसे अनुमति देता है, वही वहां इलाज करा रहा है। चाहिए जानते हैं कि भारत में एक कोरोना मरीज के इलाज में कितने रुपये का खर्च होता

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स में प्रकाशित खबर के अमुसार देश में मरीजों के इलाज का खर्च कई कारकों पर निर्भर करता है। जैसे उनकी उम्र, उनको दिया जाने वाला इलाज, कोरोना वायरस संक्रमण के हमले का भार. लेकिन एक औसत कोरोना पॉजिटिव के इलाज में जो खर्च होता है. उसके बारे में यहां जानिये…

तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने बताया कि, एक सामान्य कोविड-19 पॉजिटिव के इलाज पर बिना वेंटिलेटर या अन्य जीवनरक्षक उपकरणों के साथ प्रतिदिन 20,000 और 25,000 रुपये खर्च होते हैं।

जिसका मतलब है कि, एक मरीज के 14 दिन के इलाज पर 2,80,000 से 3,50,000 रुपये खर्च में आते हैं। आमतौर पर लगातार तीन से पांच परीक्षण नकारात्मक होने के बाद मरीज़ को छुट्टी दे दी जाती है। कई मामलों में एक निश्चित परिणाम जानने के लिए आठ से दस बार जांच की जाती हैं, बॉलीवुड गायक कनिका कपूर का लगातार छह परीक्षणों के बाद रिजल्‍ट नेगेटिव आया था।

कोरोना की जांच के लिए व्‍यक्ति के गले या नाक से लिए गए सैंपल या फ्लूड टेस्‍ट के मामले में खर्च के तहत टेस्‍ट की कीमत 4,500 रुपये है। (सुप्रीम कोर्ट दवारा विशेषज्ञों और अन्य लोगों की सुनवाई के बाद निजी लैब के लिए यह शुल्क निर्धारित किया गया है) केवल जांच किट की कीमत 3,000 रुपये है. अगर किसी व्‍यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखते हैं तो उसे सरकारी खर्च पर एंबुलेंस से अस्‍पताल पहुंचाया जाता है।

कोरोना विरसा अस्पताल के एक नर्सिंग अधीक्षक के मुताबिक, ‘100 बेड वाले कोविड-19 अस्पताल में कम से कम 200 PPE किट की आवश्यकता होती है। और डॉक्टरों और नर्सों को हर चार घंटे बाद अपनी किट बदलनी पड़ती है। अगर मरीज वायरस के भारी भार के साथ गंभीर रूप से बीमार है, तो नर्सिंग स्टाफ के पीपीई किट को अक्सर बदलना पड़ता है.’ एक स्‍टैंडर्ड पीपीई किट की कीमत 750 से 1,000 रुपये के बीच होती है। दवाओं की कीमत एक मरीजों के हिसाब से अलग-अलग होती है। एंटीबायोटिक्स, एंटी-विट्रियॉल और अन्य दवाओं की कीमत एक मरीज के लिए 500 से 1,000 रुपये के बीच होती है।

Check Also

चीन से होगी आज अहम बातचीत, TikTok सहित 59 ऐप्‍स बैन लेकिन PAYTM, VIVO, OPPO बैन क्यों नहीं

प्रधानमंत्री आज देश को छठी बार संबोधित करने वाले हैं, जानिए कि चीन की 59 …